संयुक्‍त किसान मोर्चा का कृषि कानूनों के खिलाफ भारत बंद कल, दिल्‍ली में सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम

संयुक्‍त किसान मोर्चा (Samyukt Kisan Morcha ) ने केंद्र सरकार (Central Government) के तीन कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ 27 सितंबर को भारत बंद (Bharat Bandh) का आह्वान किया है.

संयुक्‍त किसान मोर्चा का कृषि कानूनों के खिलाफ भारत बंद कल, दिल्‍ली में सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम

संयुक्त किसान मोर्चा ने मोदी सरकार के खिलाफ भारत बंद का आह्वान किया है. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

नई दिल्‍ली:

संयुक्‍त किसान मोर्चा (Samyukt Kisan Morcha ) ने केंद्र सरकार (Central Government) के तीन कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ 27 सितंबर को भारत बंद (Bharat Bandh) का आह्वान किया है. 40 किसान संगठनों के संगठन संयुक्‍त किसान मोर्चा ने देश के सभी लोगों से बंद में शामिल होने की अपील की है. साथ ही मोर्चे की ओर से सभी राजनीतिक दलों (Political Parties)  और राज्‍य सरकारों (State Governments) से भी भारत बंद में शामिल होने की अपील की गई है. भारत बंद के मद्देनजर दिल्‍ली में भी सुरक्षा के पुख्‍ता बंदोबस्‍त किए गए हैं. दस महीने से जारी आंदोलन के दस महीने पूरे होने पर संयुक्त किसान मोर्चा ने मोदी सरकार के खिलाफ भारत बंद का आह्वान किया है. 

संयुक्‍त किसान मोर्चा ने राजनीतिक दलों से कहा है कि वे ‘‘लोकतंत्र और संघवाद के सिद्धांतों को बचाए रखने की उनकी लड़ाई में हिस्सा लें.'' जिसके बाद संयुक्‍त किसान मोर्चा के भारत बंद को कई राजनीतिक दलों ने अपना समर्थन दिया है. पंजाब के मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी ने बंद को अपना समर्थन दिया है. वहीं बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने भारत बंद में शामिल होने की घोषणा की है. हालांकि संयुक्‍त किसान मोर्चा ने कहा है कि उनकी नीति है कि राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ किसान मोर्चा मंच साझा नहीं करेगा.

साथ ही कुछ संगठनों ने भी भारत बंद का समर्थन किया है. ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कॉन्‍फेडरेशन ने सोमवार को आयोजित होने वाले बंद को अपना समर्थन दिया है. साथ ही सरकार से किसानों के साथ बातचीत करने और तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की है. 

उधर, दिल्‍ली में ‘भारत बंद' के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर सुरक्षा का पुख्ता बंदोबस्त किया गया है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बंद के मद्देनजर सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. अधिकारी ने कहा कि शहर की सीमाओं पर तीन जगह प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों में से किसी को दिल्ली में प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी. 

एक अन्य अधिकारी ने बताया, ‘‘सुरक्षा एहतियातन की गई है और पूरी तरह सचेत हैं. दिल्ली में भारत बंद का कोई आह्वान नहीं है, लेकिन हम घटनाक्रम पर ध्यान रख रहे हैं और पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है. ''

मोर्चा ने कहा कि बंद का आयोजन सुबह छह बजे से शाम चार बजे तक के लिए किया गया है। इस दौरान सभी सरकारी और निजी दफ्तर, शिक्षण और अन्य संस्थान, दुकानें, उद्योग और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे. बंद से सभी आपात प्रतिष्ठानों, सेवाओं, अस्पतालों, दवा की दुकानों, राहत एवं बचाव कार्य और निजी इमरजेंसी वाले लोगों को बाहर रखा गया है. 


- - ये भी पढ़ें - -
* 27 सितंबर को 'भारत बंद' करेंगे किसान, देखें- क्या रहेगा बंद, किसे मिलेगी छूट?
* किसान संगठनों के 27 सितंबर के भारत बंद का समर्थन करेंगे 10 प्रमुख श्रम संगठन
* मुजफ्फरनगर : संयुक्त किसान मोर्चा ने 27 सितंबर को ''भारत बंद'' का ऐलान किया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


केंद्रिय श्रमिक संगठन भारत बंद के दौरान देश भर में करेंगे प्रदर्शन