SAIL ने 'अटल सुरंग' के लिए दिया 9000 टन से ज्यादा स्टील, जानिए खास बातें

भारत की सबसे बड़ी इस्पात उत्पादक कंपनी स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (SAIL) ने “अटल रोहतांग सुरंग” (Atal Rohtang Tunnel) के निर्माण में इस्तेमाल होने वाले स्टील के अधिकांश हिस्से की आपूर्ति की है.

SAIL ने 'अटल सुरंग' के लिए दिया 9000 टन से ज्यादा स्टील, जानिए खास बातें

PM मोदी आज 'अटल सुरंग' का उद्घाटन करेंगे.

खास बातें

  • आज होगा 'अटल सुरंग' का उद्घाटन
  • सुरंग के लिए SAIL ने की स्टील की आपूर्ति
  • सभी मौसमों के लिए अनुकूल है 'अटल सुरंग'
नई दिल्ली:

भारत की सबसे बड़ी इस्पात उत्पादक कंपनी स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (SAIL) ने “अटल रोहतांग सुरंग” (Atal Rohtang Tunnel) के निर्माण में इस्तेमाल होने वाले स्टील के अधिकांश हिस्से की आपूर्ति की है, जिसका उद्घाटन  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 3 अक्टूबर को करेंगे. इस परियोजना में इस्तेमाल किए गए कुल 15,000 टन स्टील में से 9,000 टन से भी अधिक की गुणवत्तापूर्ण स्टील की आपूर्ति सेल द्वारा की गई है. 3,000 मीटर से भी अधिक की ऊंचाई पर स्थित यह सुरंग दुनिया की सबसे लंबी सड़क सुरंग बनने के लिए तैयार है. सेल ने एक बार फिर से देश के एक महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे के निर्माण और भारत को मजबूत बनाने में अपनी भागीदारी निभाई है.

केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने सेल की सराहना करते हुए कहा कि यह सुरंग स्थानीय लोगों को आवागमन की सुविधा प्रदान करने के साथ-साथ रणनीतिक गतिविधियों के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण साबित होगी. इसके साथ ही यह सुरंग स्पीति घाटी से जुड़ाव में मददगार साबित होगी. निर्माण स्थल और मौसम की भारी चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों को देखते हुए, यह सुरंग हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि है. सेल ने इस परियोजना के लिए भारी मात्रा में स्टील की आपूर्ति की है. सेल हमेशा से देश निर्माण की जरूरतों को पूरा करने में आगे रहा है और स्टील की हर जरूरत को पूरा किया है और सेल का देश निर्माण की दिशा में यह योगदान आगे भी जारी रहेगा.

प्रधानमंत्री मोदी रोहतांग में सामरिक रूप से महत्वपूर्ण अटल सुरंग का आज उद्घाटन करेंगे

यह सुरंग सभी मौसमों में आवागमन के लिए अनुकूल होगी, जो पूरे वर्ष के दौरान हिमाचल प्रदेश में मनाली को लाहौल और स्पीति वैली से जोड़ेगी. सेल द्वारा आपूर्ति की जाने वाली 9000 टन स्टील में, बिम्स बनाने के लिए लगभग 6500 टन टीएमटी, 1500 टन स्ट्रक्चलर और 1000 टन प्लेट और स्टेशन एवं कंट्रोल रूम बनाने के लिए के लिए कुछ मात्र जीपी/जीसी शीट्स की शामिल हैं.

अटल टनल के उद्घाटन के बाद हिमाचल में दो जनसभाओं को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

सेल के अध्यक्ष अनिल कुमार चौधरी ने कहा, “सेल हमेशा से देश सेवा के प्रति प्रतिबद्ध है और देश निर्माण के लिए इसी तरह आगे भी काम करता रहेगा. कंपनी के लिए यह एक और गर्व का क्षण है कि उसने भारत को मजबूत बनाने वाले इस महत्वपूर्ण परियोजना में भागीदारी निभाई है. सेल अपनी नई सुविधाओं के जरिए देश की घरेलू जरूरतों को पूरा करने की क्षमता और विशेषज्ञता बढ़ा रही है. भारत ‘आत्मनिर्भर' बनने की राह की ओर बढ़ रहा है, जिसके लिए देश के हर जरूरी बुनियादी ढांचे की जरूरत को पूरा करने लिए, सेल मजबूत स्टील के उत्पादन को जारी रखेगा.”


VIDEO: सिटी सेंटर : PM मोदी ने राजघाट पर बापू को दी श्रद्धांजलि

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com