पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड : दिल्ली पुलिस की जांच में सामने आई हत्या की वजह...

पुलिस ने इस मामले में सुशील कुमार समेत 20 लोगों को आरोपी बनाया है. 15 आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है जबकि 5 फरार हैं.

पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड : दिल्ली पुलिस की जांच में सामने आई हत्या की वजह...

ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार.

नई दिल्ली:

Sagar Dhankad Murder Case: दिल्ली में पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड (Sagar Dhankad Murder Case) में दिल्ली पुलिस (Delhi police) ने ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार (Olympic medalist wrestler Sushil Kumar) और अन्य के खिलाफ सोमवार को दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी. पुलिस ने इस मामले में सुशील कुमार समेत 20 लोगों को आरोपी बनाया है. 15 आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है जबकि 5 फरार हैं. मामले में दिल्ली पुलिस ने हत्या की वजह का खुलासा किया है. पुलिस ने हत्या के पीछे चार मुख्य कारण बताए हैं.

पहली वजह
सागर धनखड़ अपने साथी सोनू महाल के साथ सुशील के फ्लैट पर किराये पर रह रहा था. ये फ्लैट सुशील की पत्नी के नाम पर था. इस फ्लैट में बदमाश आते थे. फ्लैट के बाहर पार्किंग को लेकर स्थानीय लोगों से झगड़ा हुआ, इसके बाद सुशील ने सागर से फ्लैट खाली करने को कहा. सुशील ने अपने साथी अजय सहरावत से कहा कि वो सागर से फ्लैट खाली करवाये, लेकिन फ्लैट खाली करने के बजाय अजय को सागर और सोनू ने भला बुरा कहा.

दूसरी वजह
सुशील का फ्लैट 40 हज़ार रुपये महीने में किराये पर लगवाने वाला अजय इसके बाद सागर के फ्लैट में गया. उस वक्त सागर और सोनू महाल फ्लैट में नहीं थे, उनका नौकर था. दोनों की गैरमौजूदगी में अजय ने अपने मोबाइल से सोनू के फ्लैट में रखे कुछ फोटो खींच लिए, जिसमें सोनू विदेशी महिलाओं के साथ बैठा था. जब सोनू को ये पता चला तो उसने अजय को गालियां दीं और धमकाया, उसने कहा कि सुशील को फ्लैट खाली कराना है तो वो खुद बात करे.

तीसरी वजह
जब सुशील अजय को लेकर सागर और सोनू के पास गया तो फ्लैट खाली करने को लेकर समझौता तो हो गया लेकिन सुशील को सोनू और सागर ने काफी बेइज्जत किया और देख लेने की धमकी दी. सुशील को लगा कि उसका पूरे देश में इतना सम्मान है और इन लोगों ने बदसलूकी की है. उसने तभी सबक सिखाने की ठान ली.


चौथी वजह
सुशील को सभी पहलवान गुरु जी कहते हैं. उसे लगा कि कुछ जूनियर पहलवान सागर के खेमे से जुड़ गए हैं और उसकी गतिविधियों की जानकारी सागर और सोनू को दे रहे हैं. इसलिए अब इसे सबक सिखाना जरूरी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हत्या के दिन
4-5 मई को सुशील ने साज़िश के तहत काला असोड़ा गैंग के बदमाशों को हथियार और वाहनों के साथ आने के लिए कहा. सभी शाम को इकठ्ठा हुए, उसके बाद पीड़ितों को उनके घरों से अगवा किया गया. फिर छत्रसाल के सभी सुरक्षा गार्डों को भगाकर गेट अंदर से बन्द कर दिए गए. सागर और उसके साथियों को जानवरों की तरह आधे घंटे पीटा गया. इसी बीच सागर का एक साथी भागने में कामयाब रहा और उसने पीसीआर कॉल कर दी. पुलिस के सायरन सुनकर सुशील ने सागर और उसके एक साथी को बेसमेंट में फेंक दिया, जबकि सोनू महाल घायल हालात में पुलिस को मौके पर मिला. पुलिस किसी तरह गेट से कूदकर अंदर पहुंची और घायलों को अस्पताल पहुंचाया. सोनू महाल गैगस्टर काला जठेड़ी का भांजा है जिसे हाल ही में स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है.