कंगना रनौत के आजादी वाले बयान पर बोलीं साध्वी प्रज्ञा- 'बुरा क्यों लगा...'

मुस्लिम पर्सनल बोर्ड की इस मांग पर कि हिंदुस्तान में भी ईश निंदा कानून बनना चाहिए, इस पर साध्वी ने कहा कि उन्हें पाकिस्तान जाना चाहिए.

कंगना रनौत के आजादी वाले बयान पर बोलीं साध्वी प्रज्ञा- 'बुरा क्यों लगा...'

कंगना रनौत के बयान पर साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कही ये बात

मुंबई:

भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ( Sadhvi Pragya Singh Thakur ) आज NIA अदालत में पेश हुईं. अदालत ने तबीयत के बारे में पूछा तो साध्वी ने  बताया कि अब पहले से आराम है और  कोकिलाबेन अस्पताल का इलाज फायदा कर रहा है इसलिए अभी यहां से सीधे अस्पताल जाऊंगी, जहां दो दिन जांच की जाएगी. अदालत ने कहा है जब भी जरूरत होगी तब बुलाया जाएगा और आपको आना होगा.  साध्वी के वकील को उन्हें मुकदमे की अब तक की प्रगति की जानकारी देने को भी कहा है. 

साध्वी प्रज्ञा ने कंगना रनौत के आजादी वाले बयान पर कही ये बात
साध्वी प्रज्ञा ने कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बयान का समर्थन भी किया है. उन्होंने कहा कि सच्चे अर्थों में देखें तो आजादी के बाद भी इतने वर्षों तक भ्रष्टाचार और कई मुद्दों पर 2014 के बाद ही सही मायने लोगों को आजादी का मायने पता चला. देखिए सच्चे अर्थों में आजादी किसे कहते हैं, ये प्रश्न चिन्ह था. एक स्वतंत्रता मिलती है, जब आदमी विकास करता है. स्वतंत्रता के पश्चात पाकिस्तान बन जाने के बाद भी हमारा देश कई चीजों से जूझ रहा था और हमारे देश की स्वतंत्रता जिस प्रकार से होनी चाहिए थी, वह नहीं हो पा रही थी, लेकिन 2014 में जबसे मोदी आए तबसे लोगों को वाकई लगा कि भारत स्वतंत्र है तो इसमें अगर कंगना ने सीधे से शब्दों में कह दिया तो लोगों को बुरा लग गया. कांग्रेस शासन में लोग सिर्फ भ्रष्टाचार-भ्रष्टाचार झेल रहे थे. अब वो स्वतंत्रता से बोल पा रहे हैं तो लोगों को क्यों बुरा लगता है? जब वामपंथी बोलते हैं तब लोगों को बुरा नहीं लगता है, लेकिन कोई राष्ट्र भक्त कहता है तो बुरा लग जाता है. ये पूछने पर कि क्या आप कंगना के बयान का समर्थन करती हैं तो साध्वी ने कहा कि आप को जो अर्थ लगाना है, लगाइए.

दिग्विजय सिंह के रामधुन वाले बयान पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने साधा निशाना
दिग्विजय सिंह के राम धुन गाने वाले बयान पर पर साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि दिखावा करने की आवश्यकता नहीं होती. राजनीति के कुछ मापदंड होते हैं. कभी हिंदुत्व को आतंकवाद कहेंगे, राम सेतु को नकार दिया और रामधुन कर नौटंकी कर रहे हैं. मन में श्रद्धा भाव नहीं तो दुर्भावना से प्रेरित होकर किए जाने वाले काम में सफलता नहीं मिलती.


ईश निंदा कानून की मांग पर साध्वी ने कहा- पाकिस्तान चले जाएं

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


 मुस्लिम पर्सनल बोर्ड की इस मांग पर कि हिंदुस्तान में भी ईश निंदा कानून बनना चाहिए, इस पर साध्वी ने कहा कि उन्हें पाकिस्तान जाना चाहिए.