शिवराज सिंह के कथित ऑडियो पर बवाल, सड़क पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का हंगामा

प्रशासन का कहना था कि कांग्रेस नेताओं को पहले ही लिखित में सूचित कर दिया गया था कि कोरोना की वजह से शहर में किसी भी तरह के प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जा सकती.

शिवराज सिंह के कथित ऑडियो पर बवाल, सड़क पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का हंगामा

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी और सड़क पर ही बैठने लगे.

इंदौर:

मध्यप्रदेश के इंदौर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कथित ऑडियो-वीडियो क्लिप को लेकर प्रदर्शन कर रहे 30 कांग्रेस नेताओं को गिरफ्तार कर अस्थाई जेल भेज में भेजा गया है. कांग्रेस नेताओं ने इंदौर कलेक्ट्रेट परिसर में जोरदार प्रदर्शन किया. कांग्रेस कार्यकर्ता कलेक्टर को ज्ञापन देने पहुंचे थे, लेकिन उन्हें प्रदर्शन की इजाज़त नहीं थी. ऐसे में प्रशासन ने उन्हें प्रदर्शन करने से रोका तो सड़क पर ही हंगामा शुरू हो गया. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी और सड़क पर ही बैठने लगे. समझाने के बाद भी नहीं मानने पर पुलिस ने कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल सहित कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर जिला जेल भेज दिया.

कांग्रेस का आरोप है कि हाल ही में इंदौर प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री ने रेसीडेंसी कोठी पर सांवेर के जनप्रतिनिधियों की बैठक में कहा था कि शीर्ष नेतृत्व के इशारे पर कमलनाथ सरकार को गिराया गया है. इसी के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ता सुबह 11 बजे कलेक्ट्रेट पहुंचे और शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के नेतृत्व में प्रदर्शन शुरू कर दिया.

प्रशासन का कहना था कि कांग्रेस नेताओं को पहले ही लिखित में सूचित कर दिया गया था कि कोरोना की वजह से शहर में किसी भी तरह के प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जा सकती.


इसके बावजूद कांग्रेस नेता आंदोलन कर रहे थे ऐसे में CRPC की धारा 151 के तहत उठाया गया. गिरफ्तार कांग्रेस नेताओं को बाद में निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(इंदौर से समीर खान के इनपुट के साथ)