बालाकोट एयरस्ट्राइक : 300 आतंकियों की मौत वाली खबर Fact Check में मिली गलत, वीडियो से छेड़छाड़ के सबूत

Alt News की ओर से किए गए फैक्ट चेक में देखा गया है कि ये बयान गलत तरीके से रिपोर्ट किए गए थे और जिस राजनयिक ने ये बयान दिए थे, उनका नाम 'ज़फर हिलाली' है और ट्विटर पर डाले गए वीडियो से छेड़छाड़ किया गया है.

बालाकोट एयरस्ट्राइक : 300 आतंकियों की मौत वाली खबर Fact Check में मिली गलत, वीडियो से छेड़छाड़ के सबूत

बालाकोट स्ट्राइक वाली खबर पर फैक्ट-चेक. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय सेना के एयरस्ट्राइक में वहां के पूर्व राजनयिक की ओर से 300 आतंकियों के मारे जाने की बात को स्वीकार किए जाने की खबर को फैक्ट-चेक वेबसाइट Alt News ने गलत बताया है. फैक्ट-चेक में बताया गया है कि जिस वीडियो क्लिप के आधार पर यह खबर बनाई गई है, उससे छेड़छाड़ किया गया है.

न्यूज एजेंसी ANI के हवाले से NDTV सहित कई अखबारों और वेबसाइटों ने इस खबर को उठाया था. इस खबर में कहा गया था कि पूर्व पाकिस्तानी राजनयिक 'आगा हिलाली' ने एक पाकिस्तानी चैनल की डिबेट में बताया था कि 26 फरवरी, 2019 को हुए बालाकोट एयरस्ट्राइक में 300 आतंकियों की जान गई थी. रिपोर्ट में कहा गया था कि 'टीवी डिबेट्स में पाकिस्तानी सेना का बार-बार पक्ष लेने वाले पूर्व पाकिस्तानी राजनयिक का यह बयान इस्लामाबाद के उस दावे के उलट है, जिसमें उसने कहा था कि इस एयरस्ट्राइक में किसी की जान नहीं गई थी.'

ANI की इस रिपोर्ट में 'आगा हिलाली' के हवाले से कहा गया था, 'भारत ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पार की और युद्ध की गतिविधि की, जिसमें 300 लोगों की जान गई. हमारा टारगेट उनसे अलग था. हमने उनके हाई कमांड को निशाना बनााया. वो हमारा असली टारगेट थे, क्योंकि वो सेना के लोग हैं. हमने स्वीकार किया था कि एक सर्जिकल स्ट्राइक से कोई नुकसान नहीं हुआ था, लेकिन अब हमने उन्हें बता दिया है कि वो जो भी करेंगे, हम भी उतना ही करेंगे और उससे ज्यादा चीजें बिगड़ने नहीं देंगे.'

लेकिन Alt News की ओर से किए गए फैक्ट चेक में देखा गया है कि ये बयान गलत तरीके से रिपोर्ट किए गए थे और जिस राजनयिक ने ये बयान दिए थे, उसका नाम 'ज़फर हिलाली' है. HUM न्यूज़ के प्रोग्राम 'एजेंडा पाकिस्तान' की ओर से यूट्यूब पर पोस्ट किए इस वीडियो में हिलाली ने कहा था, 'इंडिया जो आपने किया, वो एक्ट ऑफ वॉर था. इंटरनेशनल बाउंडी को क्रॉस करके एक एक्ट ऑफ वॉर. जिसमें कम से कम 300 लोगों को उन्होंने मारना था.'

हिलाली ने आगे कहा कि 'इत्तेफाक़न वो नहीं मरे और इंडिया ने एक फुटबॉल फील्ड में बम गिराए.' 

खबर आने के बाद ज़फर हिलाली ने एक वीडियो ट्वीट कर कहा कि उनके वीडियो में कट लगाकर इसे एडिट किया गया है. Alt News ने कहा कि ट्विटर पर पोस्ट किए गए इसके एक वीडियो में '0.7-0.9 सेकेंड' के पास एक अचानक से कट किया गया है और हिलाली के 'मारना' शब्द को 'मारा' कर दिया गया है.


फैक्ट-चेक के बाद इस वीडियो को न्यूज वेबसाइट्स से हटा दिया गया है.

LoC पर सुरक्षा बड़ी चुनौती, घुसपैठियों पर रखनी होती है पैनी नजर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com