मीडिया द्वारा ध्यान भटकाने से गरीब की मदद नहीं होगी, राहुल गांधी ने RBI रिपोर्ट पर कहा

वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी कोरोनोवायरस महामारी से निपटने को लेकर सोशल मीडिया के जरिए केंद्र सरकार पर लगातार हमला कर रहे हैं, जिसने राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को बुरी तरह प्रभावित किया है.

मीडिया द्वारा ध्यान भटकाने से गरीब की मदद नहीं होगी, राहुल गांधी ने RBI रिपोर्ट पर कहा

देश के आर्थिक हालात को लेकर राहुल गांधी लगातार सरकार पर हमलावर हैं.

नई दिल्ली:

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की रिपोर्ट को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बुधवार मोदी सरकार पर ताजा हमला करते हुए कहा कि, "मीडिया के माध्यम से ध्यान भटकाने से गरीबों की मदद नहीं होगी." राहुल गांधी का यह ट्वीट नोवल कोरोनोवायरस महामारी के बीच आर्थिक संकुचन पर भारतीय रिजर्व बैंक की ताजा चेतावनी के बाद आया है. राहुल गांधी ने बुधवार सुबह एक समाचार रिपोर्ट के साथ किए गए अपने ट्वीट में लिखा, "आरबीआई ने अब पुष्टि की है कि मैं महीनों से क्या चेतावनी दे रहा हूं,"

उन्होंने तब कुछ सुझाव दिए। "सरकार को चाहिए : अधिक खर्च करें, अधिक उधार न दें. गरीबों को पैसा दें, उद्योगपतियों को कर में कटौती नहीं. अर्थव्यवस्था को उपभोग के साथ पुन: स्थापित करें." उन्होंने कहा "मीडिया के माध्यम से ध्यान भटकाने से गरीबों को मदद नहीं मिलेगी या इससे आर्थिक आपदा गायब नहीं होने वाली है"

यह भी पढ़ें-कोरोनावायरस: देश की इकॉनमी को लेकर पूर्व PM मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार को दिए 3 टिप्स

मंगलवार को आरबीआई ने सितंबर तक आर्थिक संकुचन की चेतावनी दी. केंद्रीय बैंक ने अपने वार्षिक दस्तावेज में कहा,  "कोरोनोवायरस महामारी के अधिक फैलाव, पूर्वानुमानित सामान्य बारिश से मानसून का विचलन और वैश्विक वित्तीय बाजार में उतार-चढ़ाव विकास के प्रमुख जोखिम हैं, "

यह भी पढ़ें- RBI ने साल 2020-21 के लिए सरकार को 57000 करोड़ रुपये का डिविडेंड दिए जाने को दी मंजूरी

RBI ने कहा कि महामारी ने 200 से अधिक देशों को प्रभावित किया है. केंद्रीय बैंक ने यह भी कहा कि COVID-19 महामारी के प्रकोप ने नोटों की आपूर्ति को प्रभावित किया है. रिपोर्ट में कहा गया है,  "2019-20 के दौरान बैंकनोट्स की आपूर्ति भी पिछले वर्ष की तुलना में 23.3 प्रतिशत कम थी, मुख्य रूप से COVID-19 के प्रकोप के कारण हुए व्यवधानों और आगामी लॉकडाउन के चलते ये परिणाम आए. "

केंद्रीय बैंक की वार्षिक रिपोर्ट 30 जून को समाप्त तिमाही के लिए जीडीपी पर आधिकारिक डेटा जारी करने के कुछ दिन पहले आती है.

यह भी पढ़ें- बेजान पड़ी अर्थव्यवस्था को भी है अब टीके का इंतजार

वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी कोरोनोवायरस महामारी से निपटने को लेकर सोशल मीडिया के जरिए केंद्र सरकार पर लगातार हमला कर रहे हैं, जिसने राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को बुरी तरह प्रभावित किया है.

हालांकि सत्तारूढ़ दल ने कांग्रेस नेताओं के दावों को खारिज कर दिया है.पिछले हफ्ते, बीजेपी प्रमुख जेपी नड्डा ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्हें "अक्षमता का राजकुमार" और "हारा हुआ शख्स करार दिया था. नड्डा ने राहुल गांधी पर पीएम केयर फंड को लेकर फेक न्यूज फैलाने का भी आरोप लगाया. पीएम केयर फंड कोविड महामारी से निपटने के लिए धन जुटाने में मदद करने के लिए केंद्र द्वारा स्थापित किया गया फंड है.

यह भी पढ़ें- रिजर्व बैंक की दो चरणों में 20,000 करोड़ रुपये के विशेष ओएमओ की घोषणा


नड्डा ने ट्वीट किया, “पूरे देश को पीएम और उनकी पहल पर पूरा भरोसा है. यह विश्वास अभी तक फिर से PM CARES के लिए भारी समर्थन के साथ दिखाई दे रहा था. हारने वाले होने के नाते, आप केवल नकली खबरें फैला सकते हैं जबकि पूरे देश ने COVID-19 के खिलाफ लड़ाई में हाथ मिलाया है."

नए कांग्रेस अध्यक्ष के लिए होगा AICC का सत्र!

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com