पंजाब में चन्नी को हराने वाले आप विधायक की मां स्कूल में साफ-सफाई का काम नहीं छोड़ेंगी, बताई ये वजह...

लाभ (Labh Singh) की मां बलदेव कौर ने बताया कि उनका परिवार मेहनत मज़दूरी करके घर चलाने वाला परिवार है. बड़ी मुश्किलों के दिन बर्दाश्त करके उन्होंने अपने पुत्र लाभ को पढ़ाया लिखाया और बड़ा किया है.

पंजाब में चन्नी को हराने वाले आप विधायक की मां स्कूल में साफ-सफाई का काम नहीं छोड़ेंगी, बताई ये वजह...

Punjab Election Results 2022 : पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी है

चंडीगढ़:

पंजाब के भदौड़ विधानसभा क्षेत्र से मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) को आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार लाभ सिंह उग्गोके (Punjab Aam Aadmi Party MLA Labh Singh) की तरफ से बड़े अंतर के साथ हराया है. लाभ सिंह मज़दूर परिवार से जुड़ा होने के साथ आम घर का लड़का है. वह एक मोबाइल रिपेयर की दुकान पर काम करता रहा है. जबकि उसके पिता एक मज़दूर हैं और उसकी माता सरकारी स्कूल में सफ़ाई सेविका है. इसके बावजूद लाभ सिंह को भदौड़ हलके लोगों ने मुख्य मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी से 37000 से अधिक की लीड के साथ जिता कर विधान सभा की सीढ़ियां चढा दिया है.  चाहे पुत्र एमएलए बन गया, परंतु उस का परिवार आज भी मेहनत की काम कमाई को ही पहल दे रहा है. लाभ की माता बलदेव कौर रोज़मर्रा की तरह आज भी सरकारी स्कूल में अपनी सफ़ाई सेवकों के तौर पर ड्यूटी निभाने पहुंची और इस काम को जारी रखना चाहती हैं.

लाभ की मां बलदेव कौर ने बताया कि उनका परिवार मेहनत मज़दूरी करके घर चलाने वाला परिवार है. बड़ी मुश्किलों के दिन बर्दाश्त करके उन्होंने अपने पुत्र लाभ को पढ़ाया लिखाया और बड़ा किया है. आज जब उनका पुत्र एमएलए बना है तो उनको इस की बहुत ज़्यादा ख़ुशी है. उन्होंने कहा कि चाहे लाभ का मुकाबला मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी के साथ था, परंतु उनको पहले दिन से ही यकीन था कि लाभ बड़ी लीड के साथ जीतेगा. उन्होंने कहा कि चाहे मेरा पुत्र विधायक बन गया है, परंतु वह इस के बावजूद अपनी ड्यूटी करती रहेगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सफ़ाई सेवकों के तौर पर काम करेगी और इसी कमाई के साथ अपना घर चलाऐंगे. उन्होंने कहा कि मेरे पुत्र लाभ सिंह से लोगों को बहुत उम्मीदें हैं. लाभ हलके लोगों के लिए सेहत शिक्षा के लिए अच्छा काम करेगा. स्कूल की प्रिंसिपल अमृतपाल कौर ने कहा कि लाभ सिंह की मां लंबे समय से इस स्कूल में सफ़ाई सेविका के तौर पर काम कर रही है. लाभ भी इस स्कूल का विद्यार्थी रहा है. उसने एमएलए बन कर अपने गांव और स्कूल का नाम रोशन किया है, जिसकी उनको ख़ुशी है. उन्होंने कहा कि लाभ की माता की यह एक अच्छी सोच है कि वह अपनी मेहनत का काम जारी रखना चाहती है.