साइक्लिस्ट बनने का सपना देखने वाले 9वीं कक्षा के रियाज़ को राष्ट्रपति ने 'ईदी' में दी रेसिंग बाइक

देश के निर्माण में युवाओं की भागीदारी को उत्साहित करने की दिशा में कदम उठाते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बहुत ही गरीब परिवार से आने वाले 9वीं कक्षा में पढ़ रहे रियाज़ को एक रेसिंग साइकिल तोहफे में देने के लिए चुना है. 

साइक्लिस्ट बनने का सपना देखने वाले 9वीं कक्षा के रियाज़ को राष्ट्रपति ने 'ईदी' में दी रेसिंग बाइक

बिहार के रियाज़ को राष्ट्रपति कोविंद ने दिया तोहफा.

खास बातें

  • राष्ट्रपति ने बिहार के रियाज़ को दी 'ईदी'
  • रियाज़ का साइक्लिस्ट बनने का सपना
  • गाज़ियाबाद में खाने-पीने की दुकान पर बर्तन धोता है रियाज़
नई दिल्ली:

देश के निर्माण में युवाओं की भागीदारी को उत्साहित करने की दिशा में कदम उठाते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बहुत ही गरीब परिवार से आने वाले 9वीं कक्षा में पढ़ रहे रियाज़ को एक रेसिंग साइकिल तोहफे में देने के लिए चुना है. रियाज़ का सपना साइक्लिस्ट बनने का है और वो इसके लिए कड़ी मेहनत करता है. राष्ट्रपति कोविंद ने रियाज़ को साइक्लिंग रेस में उसके इंटरनेशनल चैंपियन बनने को लेकर शुभकामनाएं भी दीं और खूब मेहनत करने को कहा. 

रियाज़ को 31 जुलाई यानी ईद-उल-अदा के एक दिन पहले दी गई है, जो रियाज़ के लिए ईदी के बराबर है. ईदी, ईद पर बड़ों की ओर से छोटे बच्चों को दिए जाने वाले तोहफे को कहते हैं. गरीब परिवार से आने के बावजूद रियाज़ का इतना बड़ा सपना देखना दूसरों के लिए प्रेरणा बन सकता है. 

रियाज़ दिल्ली के आनंद विहार के सर्वोदय बाल विद्यालय का 9वीं का छात्र हैं. रियाज़ मूल रूप से बिहार के मधुबनी का है.  उसके माता-पिता, दो बहनें और एक भाई, वहीं रहते हैं. लेकिन रियाज़ गाज़ियाबाद के महाराजपुर में एक किराए के रूम में रहता है. उसके पिता रसोइए का काम करते हैं. ऐसे में आर्थिक मदद के लिए रियाज़ खाली वक्त में गाज़ियाबाद के एक खाने-पीने की दुकान पर बर्तन धुलने का काम करता है.

रियाज़ का जूनून साइक्लिंग करना है. वो रोज की पढ़ाई और काम खत्म करने के बाद जमकर प्रैक्टिस करता है. 2017 में उसने दिल्ली स्टेट साइक्लिंग चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज़ मेडल जीता था. गाज़ियाबाद के डीएम ने बताया कि रियाज़ इसके अलावा गुवाहाटी में स्कूल गेम्स इवेंट में हिस्सा लेने भी गया था, जहां उसने नेशनल लेवल पर चौथा स्थान प्राप्त किया था. 

अपनी उपलब्धियों से प्रेरणा लेते हुए रियाज़ ने कोच श्री प्रमोद शर्मा से प्रोफेशनल ट्रेनिंग लेनी भी शुरू कर दी है. वो नियमित रूप से इंदिरा गांधी इन्डोर स्टेडियम में प्रैक्टिस करता है. हालांकि इसके लिए उसे उधार की साइकिल का सहारा था और उसे अपनी साइकिल चाहिए थी. ऐसे में ईद के मौके पर राष्ट्रपति ने उसे ईदी में रेसिंग साइकिल दी है. राष्ट्रपति को रियाज़ के बारे में मीडिया में छपी खबरों के जरिए पता चला था.

राष्ट्रपति कोविंद ने रियाज़ को उसकी उपलब्धियों पर बधाई दी और उसे शुभकामनाएं देते हुए कहा कि रियाज़ की ही तरह देश के युवाओं को देश-निर्माण में अपनी मेहनत, साहस और समर्पण से जुटना चाहिए.

Video: बकरीद में कुर्बानी पर असमंजस


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com