प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना को दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा, नवंबर तक मुफ्त अनाज मिलेगा

पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि महामारी के इस समय में, सरकार गरीब की हर जरूरत के साथ, उसका साथी बनकर खड़ी है

खास बातें

  • कहा, सरकार गरीब की हर जरूरत को लेकर साथी बनकर खड़ी है
  • नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक को हर माह तय मात्रा में मुफ्त अनाज
  • 21 जून से 18+ के लोगों को भी मुफ्त वैक्‍सीन मुहैया कराएगी सरकार
नई दिल्ली:

कोरोना महामारी पर राष्‍ट्र के नाम संबोधन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने आज देश के गरीब वर्ग को भी ध्‍यान में रखा. अपने संबोधन के दौरान अहम घोषणा करते हुए पीएम ने प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना को दीपावली तक आगे बढ़ाने का फैसला किया  है. पीएम ने कहा, 'सरकार ने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा. महामारी के इस समय में, सरकार गरीब की हर जरूरत के साथ, उसका साथी बनकर खड़ी है यानीनवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा.'

PM नरेंद्र मोदी का संबोधन, प्रधानमंत्री बोले- नेजल वैक्सीन पर चल रहा काम, सफलता मिली तो...

इस दौरान पीएम ने यह भी कहा कि 21 जून, योग दिवस से देश के हर राज्य में, 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों को भारत सरकार राज्यों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी. उन्‍होंने कहा कि वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद ही खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी.अपनी बात को स्‍पष्‍ट करते हुए पीएम ने कहा कि देश की किसी भी राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना होगा. अब तक देश के करोड़ों लोगों को मुफ्त वैक्सीन मिली है, अब 18 वर्ष की आयु के लोग भी इसमें जुड़ जाएंगे. सभी देशवासियों के लिए भारत सरकार ही मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध करवाएगी.

देश में ब्लैक फंगस के अब तक कुल 28,252 मामले सामने आए, महाराष्ट्र में सबसे अधिक केस


इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि देश में बन रही वैक्सीन में से 25%,  प्राइवेट सेक्टर के अस्पताल सीधे ले पाएं, यह व्यवस्था जारी रहेगी. प्राइवेट अस्पताल, वैक्सीन की निर्धारित कीमत के उपरांत एक डोज पर अधिकतम 150 रुपए ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे. इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के ही पास रहेगा.टीकाकरण अभियान का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि हमने अपने हेल्‍थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को पहले वैक्‍सीन लगाने का फैसला किया क्‍योंकि  वे ज्‍यादा जोखिम सामना करते हैं. कल्‍पना करिए कि दूसरी लहर के पहले वैक्‍सीन न लगती तो क्‍या होता. हमने चरणबद्ध तरीके से टीकाकरण शुरू किया और पहले वारियर्स को टीका लगाया फिर बुजुर्गो को. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


टीकाकरण केंद्र में सीधे जाकर लगवा सकते हैं टीका, जानें ऐसे कई अहम सवालों के जवाब