प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक मामले पर सियासी खींचतान अनुचित : मायावती

मायावती ने गुरुवार को किए गए सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अभी हाल के पंजाब दौरे के दौरान जो सुरक्षा चूक हुई है वह अत्यंत चिंता का विषय है.

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक मामले पर सियासी खींचतान अनुचित : मायावती

इस मामले को प्रधानमंत्री की सुरक्षा में बड़ी चूक के रूप में देखा जा रहा है. 

लखनऊ:

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में पंजाब में हुई चूक पर जारी राजनीतिक खींचतान को अनुचित करार देते हुए घटना की निष्पक्ष उच्च स्तरीय जांच की मांग की. मायावती ने गुरुवार को किए गए सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अभी हाल के पंजाब दौरे के दौरान जो सुरक्षा चूक हुई है वह अत्यंत चिंता का विषय है. इस घटना को पूरी गंभीरता से लेकर इसकी उच्च-स्तरीय निष्पक्ष जाँच जरूरी है, ताकि इसके लिए दोषियों को उचित सजा मिल सके तथा आगे ऐसी घटना की पुनरावृति न हो.'

मायावती का विपक्षी पार्टियों पर निशाना, बोलीं-जनसभाओं में जनता का पैसा पानी की तरह बह रहा

उन्होंने कहा, 'पंजाब आदि राज्यों में होने वाले विधानसभा आमचुनाव के मद्देनजर इस घटना को लेकर जो राजनीतिक खींचतान, आरोप-प्रत्यारोप व राजनीति की जा रही है वह भी उचित नहीं है. घटना के संबंध में राजनीति को विराम देकर इसकी गंभीरता के अनुरूप निष्पक्ष जाँच होने देना ही उचित होगा.'

गौरतलब है कि बुधवार को पंजाब के फिरोजपुर में रैली को संबोधित करने जा रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला हुसैनीवाला क्षेत्र में एक फ्लाईओवर पर पहुंचा. तभी कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क अवरुद्ध कर दिया. प्रधानमंत्री कुछ देर तक वहीं फंसे रहे और वहीं से वापस लौट गए.

'हाईकोर्ट दे दखल'- अयोध्या में BJP नेताओं के जमीन खरीदने के आरोप पर मायावती ने की अपील

इसे प्रधानमंत्री की सुरक्षा में बड़ी चूक के रूप में देखा जा रहा है. इस मामले को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार और पंजाब में सत्तारूढ़ कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


UP विधानसभा चुनाव के लिए बसपा भी तैयार, मायावती ने पार्टी पदाधिकारियों की आज बुलाई बैठक



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)