देश में फिर बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुलाई बैठक

भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) के नए मामलों का ग्राफ तेजी से बढ़ा है. देश में नए COVID-19 केसों में 3.8 प्रतिशत बढ़ोतरी दर्ज की गई है. रविवार को 25,320 नए मामले सामने आए थे.

देश में फिर बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुलाई बैठक

PM Modi ने 17 मार्च को यह बैठक बुलाई है

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है. सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों (Chief Ministers meeting) के साथ ये बैठक बुधवार दोपहर 12:30 बजे होगी. महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, दिल्ली और यूपी समेत कई राज्यों में कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी का ग्राफ देखते हुए इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है. 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखते हुए सभी राज्यों को पहले ही एडवाइजरी भेजी जा चुकी है. फरवरी के मध्य से कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी का रुख देखा गया था, जो लगातार जारी है. ऐसे में केंद्र सरकार को लग रहा है कि अभी सतर्कता नहीं बरती गई तो कोरोना फिर भयावह रूप ग्रहण कर सकता है. पिछले साल सितंबर-अक्टूबर के दौरान कोरोना का कहर दिखा था, जब रोजाना मामलों की तादाद एक लाख के करीब तक पहुंच गई थी.


भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) के का ग्राफ एक बार फिर तेजी से बढ़ रहा है. देश में नए COVID-19 मामलों में 3.8 फीसदी वृद्धि हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 26,291 नए दर्ज किए गए हैं. इससे देश में कुल मामलों की संख्या 1.13 करोड़ हो गई है. बीते 24 घंटे यानी एक दिन में 118 लोगों की संक्रमण के चलते जान गई है. कुल 1,58,725 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है. रविवार को 25,320 नए मामले सामने आए थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


महाराष्ट्र में 16620 नए केस (Maharashtra New corona cases) सामने आए जो कि 30 सितंबर के बाद से सबसे ज्‍यादा हैं. महाराष्‍ट्र के औरंगाबाद, परभनी, ओस्मानाबाद, पुणे, नांदेड, ठाणे, पालघर, जलगांव, नागपुर, लातूर, धुले, वर्धा, नाशिक जैसे ज़िलों में बढ़े मामलों को देखते हुए लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लगाई गई हैं.मुंबई में कोरोना के रोजाना मामलों की संख्या 2 हजार के करीब पहुंच गई है, जो एक महीने में दोगुने से ज्यादा है.