सीरम में बनी ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन कोरोना के नए स्ट्रेन के खिलाफ भी असरदार : अध्ययन

कोविशील्ड वैक्सीन का विकास करने वाले ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने पाया है कि यह बीमारी के कम से कम एक नए स्ट्रेन के खिलाफ प्रभावी है, जिसे बी.1.1.7 ‘केंट'' कहा जाता है.

सीरम में बनी ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन कोरोना के नए स्ट्रेन के खिलाफ भी असरदार : अध्ययन

Serum Institute में कोविशील्ड वैक्सीन के लाखों टीके हर माह तैयार किए जा रहे हैं

लंदन:

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन (रूपों) को लेकर चिंता के बीच एक राहत भरी खबर आई है. एक अध्ययन में दावा किया गया है कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और ब्रिटिश कंपनी एस्ट्राजेनेका द्वारा तैयार कोरोना का टीका ब्रिटेन में सामने आए कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के खिलाफ भी प्रभावी है. 


कोविशील्ड वैक्सीन का विकास करने वाले ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने पाया है कि यह बीमारी के कम से कम एक नए स्ट्रेन के खिलाफ प्रभावी है, जिसे बी.1.1.7 ‘केंट'' कहा जाता है. इस नए स्ट्रेन का पता पहली बार पिछले साल के अंत में ब्रिटेन में चला था. ऑक्सफोर्ड टीके के परीक्षण संबंधी मुख्य जांचकर्ता प्रोफेसर एंड्रयू पोलार्ड ने कहा,‘ब्रिटेन में कोविशील्ड टीके के परीक्षण डेटा से संकेत मिलता है कि टीका न केवल मूल महामारी वायरस से बचाता है, बल्कि इसके नए स्वरूप से भी रक्षा करता  है. इससे 2020 के अंत में संक्रमण के मामलों में वृद्धि हुई थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हालांकि एस्ट्राज़ेनेका ने कहा कि यह अभी तक पूरी तरह से निर्धारित किया जाना बाकी है कि क्या यह टीका दक्षिण अफ्रीका में सामने आए अत्यधिक संक्रामक कोरोना वायरस के स्ट्रेन से होने वाली गंभीर बीमारी से भी बचाता है. कंपनी ने विश्वास जताया है कि यह टीका गंभीर मामलों से सुरक्षा प्रदान करेगा, क्योंकि इसने अन्य कोरोना वायरस टीकों के समान ही बेअसर करने वाले एंटीबॉडी बनाए गए.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)