कनाडा के PM जस्टिन ट्रुडो के 'सुर' बदले, किसानों के साथ संवाद के सरकार के प्रयासों को सराहा

विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्‍तव ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘कनाडा के प्रधानमंत्री ट्रूडो ने किसानों के प्रदर्शन के सिलसिले में भारत सरकार द्वारा लोकतंत्र के लिहाज से उपयुक्त संवाद का रास्ता अपनाने के प्रयासों की सराहना की.

कनाडा के PM जस्टिन ट्रुडो के 'सुर' बदले, किसानों के साथ संवाद के सरकार के प्रयासों को सराहा

कनाडा के पीएम ने किसान प्रदर्शनों से निबटने के लिए संवाद की राह चुनने के भारत सरकार के प्रयासों की सराहना की है

नई दिल्ली:

पिछले वर्ष भारत में पुलिस की कार्रवाई के मामले में किसानों का समर्थन करके भारत को नाराज करने वाले कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने अब अपना 'सुर' बदला है. विदेश मंत्रालय ने शु्क्रवार को कहा कि कनाडा के पीएम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ फोन पर हुई बातचीत में किसान प्रदर्शनों से निबटने के लिए संवाद का रास्ता चुनने के भारत सरकार के प्रयासों की सराहना की और इसे ‘‘लोकतंत्र के लिहाज से उपयुक्त'' बताया. मोदी और ट्रूडो के बीच बुधवार को कोरोना वायरस संकट समेत अनेक मुद्दों के बारे में फोन पर बात हुई थी.

यूपी : किसानों को नहीं पता गन्ने का दाम, 2021 की पर्ची पर लिखा है 'जीरो-जीरो'

विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्‍तव ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘कनाडा के प्रधानमंत्री ट्रूडो ने किसानों के प्रदर्शन के सिलसिले में भारत सरकार द्वारा लोकतंत्र के लिहाज से उपयुक्त संवाद का रास्ता अपनाने के प्रयासों की सराहना की. उन्होंने (ट्रूडो ने) कनाडा में भारतीय राजनयिक परिसरों और अधिकारियों को सुरक्षा उपलब्ध करवाने में अपनी सरकार की जिम्मेदारी भी स्वीकार की.''


कनाडा में कोरोना वैक्सीनेशन में मदद करेगा भारत, जस्टिन ट्रूडो को पीएम मोदी ने दिया आश्वासन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कनाडा के प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि दोनों प्रधानमंत्री के बीच फोन पर हुई बातचीत में किसान प्रदर्शन का मुद्दा उठा. हालांकि, भारत की ओर से इस बारे में जारी बयान में ऐसा कोई जिक्र नहीं किया गया. कनाडा की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘‘दोनों नेताओं ने लोकतांत्रिक सिद्धांतों के लिए कनाडा और भारत की प्रतिबद्धता, हालिया प्रदर्शनों और बातचीत के जरिए मुद्दों के समाधान के महत्व पर चर्चा की.''ट्रूडो ने दिसम्बर में कहा था कि कनाडा हमेशा शांतिपूर्ण प्रदर्शन का समर्थन करता रहेगा और साथ ही उन्होंने स्थिति को लेकर चिंता भी व्यक्त की थी. पिछले हफ्ते विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने कहा था कि कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने किसानों से संबंधित मुद्दे पर टिप्पणी की है और कनाडा को बता दिया गया है कि भारत के आंतरिक मामलों पर ऐसी टिप्पणी करना ‘‘गैरजरूरी'' और ‘‘अस्वीकार्य'' है.(एएनआई से भी इनपुट)



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)