भारत में कोरोना से मौतों की तादाद 3 लाख के पार, अमेरिका और ब्राजील के बाद ऐसा तीसरा देश

कोरोनावायरस की दूसरी लहर में संक्रमण जबरदस्त तरीके से बढ़ा है. इससे पहले अमेरिका और ब्राजील में कोरोना से तीन लाख से ज्यादा मौतें हुई हैं. 

भारत में कोरोना से मौतों की तादाद 3 लाख के पार, अमेरिका और ब्राजील के बाद ऐसा तीसरा देश

India Coronavirus Deaths :भारत में कोरोना के केस घट रहे हैं, मगर मौतों के आंकड़े चिंताजनक

नई दिल्ली:

भारत में कोरोना वायरस से मौतों का आंकड़ा तीन लाख (coronavirus Deaths in India crosses 3 lakh) के पार कर गया है. यह भारत में कोरोना से हुई मौतों का आधिकारिक आंकड़ा है, जो कोरोना की दूसरी लहर के दौरान जबरदस्त तरीके से बढ़ा है. कोरोनावायरस (Covid Second Wave) की दूसरी लहर में संक्रमण जबरदस्त तरीके से बढ़ा है. इससे पहले अमेरिका (United States) और ब्राजील (Brazil)  में कोरोना से तीन लाख से ज्यादा मौतें हुई हैं. भारत में कोविड-19 की दूसरी लहर में ग्राफ भले ही रिकॉर्ड 4 लाख से ऊपर जाने के बाद नीचे आया है. अब रोजाना दो लाख के ऊपर केस मिल रहे हैं. लेकिन पिछले कई हफ्तों से लगातार मौतों का आंकड़ा 3500 से 4500 के बीच बना हुआ है.

यह कोरोना की दूसरी जानलेवा लहर का संकेत देता है. इससे स्वास्थ्य सुविधाओं पर भारी बोझ पड़ा है. ऑक्सीजन (Oxygen Crisis) के लिए हाहाकार के बाद अब भी श्मशान घाट और कब्रिस्तानों पर लाशों की लाइनें साफ देखी जा सकती हैं.भारत में रविवार को कोरोना के 2.40 लाख नए केस दर्ज हुए हैं. इससे कोरोना के कुल मामले 2.65 करोड़ के भी पार हो गए हैं. पिछले 24 घंटे के दौरान देश में 3741 कोरोना मरीजों की मौतें हुई हैं. हालांकि दिल्ली-महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में कोरोना के केस लगातार नीचे आ रहे हैं. कोरोना से कुल मौतों की बात की जाए तो भारत अब अमेरिका और ब्राजील के बाद तीसरी पायदान पर है.

अमेरिका कोरोना से प्रभावित सबसे बड़ा देश है, जहां मौतों का आंकड़ा करीब 6 लाख (589703)) तक पहुंच गया है. वहां कोरोना के कुल केस 3.31 करोड़ से ज्यादा हैं. ब्राजील में कोरोना से 448208 मरीज दम तोड़ चुके हैं. जबकि वहां कोरोना के कुल 1.60 करोड़ से ज्यादा केस हैं. वैश्विक तौर पर दुनिया में कोरोना से 34 लाख 56 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं. चीन में दिसंबर 2019 में कोरोना वायरस का पहली बार पता चला था.


सरकार का कहना है कि कोरोना के म्यूटेंट वायरस और लोगों की लापरवाही के कारण महामारी ने दूसरी लहर में कहर ढाया है और इतनी बड़ी संख्या में मामले मिल रहे हैं. हालांकि विशेषज्ञों ने कुंभ मेले (Kumbh Mela) और पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) के दौरान रैलियों और रोड शो में भारी भीड़ को कोरोना के बेहद संक्रामक होने का जिम्मेदार माना है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com