दिल्‍ली में 18+ के लोगों को लगातार दूसरे दिन भी Covaxin नहीं लगेगी, Covishield का भी बचा कम स्‍टॉक

आम आदमी पार्टी (AAP) विधायक आतिशी ने बताया कि गुरुवार को 74,448 लोगों को वैक्सीन दी गई. यह आंकड़ा बाकी दिनों की तुलना में इसलिए कम है क्योंकि गुरुवार को डिस्पेंसरी में रूटीन वैक्सीनेशन होता है.

दिल्‍ली में 18+ के लोगों को लगातार दूसरे दिन भी Covaxin नहीं लगेगी, Covishield का भी बचा कम स्‍टॉक

प्रतीकात्‍मक फोटो

नई दिल्ली:

देश की राजधानी दिल्‍ली में 18 से 44 तक की उम्र वालों को लगातार दूसरे दिन Covaxin (कोवैक्‍सीन) नहीं लगेगी. दूसरी ओर, एक अन्‍य वैक्‍सीन Covishield (कोविशील्ड) का 8 दिन का स्टॉक बचा है. आम आदमी पार्टी (AAP) विधायक आतिशी ने बताया कि गुरुवार को 74,448 लोगों को वैक्सीन दी गई. यह आंकड़ा बाकी दिनों की तुलना में इसलिए कम है क्योंकि गुरुवार को डिस्पेंसरी में रूटीन वैक्सीनेशन होता है. उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार से अनुरोध है कि जल्द से जल्द वैक्सीन उपलब्ध कराए. इस समय दोनों वैक्सीन की कम ही डोज बची है. बहुत लोगों को दूसरी डोज लगनी है, अगर वैक्सीन सही समय पर नहीं मिली तो दूसरी डोज भी नहीं लग सकेगी, ऐसे में पहली डोज का भी कोई फायदा नहीं रह जाएगा.

कोरोना संकटः भारत में वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार पर संयुक्त राष्ट्र ने जताई चिंता

18-44 उम्र वालों के लिए उपलब्ध वैक्सीन स्टॉक - 3,90,410

- को-वैक्सीन- 10,390

- कोविशील्ड- 3,80,020


हेल्थ केयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए बची 3 दिन की को-वैक्सीन और 2 दिन की कोविशील्ड

हेल्थ केयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए उपलब्ध वैक्सीन स्टॉक- 2,90,690

- कोवैक्सीन- 1,46,690

- कोविशील्ड- 1,44,000


नहीं थम रही महामारी की रफ्तार, कोरोना के 72 प्रतिशत नये मामले 10 राज्यों से

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि दिल्ली सरकार ने 1.34 करोड़ वैक्सीन की डिमांड की थी.  लेकिन Covaxin ने दिल्ली सरकार को चिट्ठी लिखकर साफ कह दिया है कि वे उन्हें वैक्सीन नहीं दे सकता, क्योंकि वैक्सीन उपलब्ध नहीं है.उन्‍होंने इस मामले में केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए इसे केंद्र का 'वैक्‍सीन कुप्रबंधन' करार दिया. दूसरी ओर, कंपनी ने कहा था कि यह दुर्भाग्‍यपूर्ण है कि कुछ राज्‍य उसके इरादों को लेकर शिकायत कर रहे हैं.