नार्को-टेररिज्म : पाकिस्तानी घुसपैठिया मारा गया, 14.8 किलो हेरोइन और हथियार बरामद

पंजाब में बीएसएफ और एनसीबी ने ज्वाइंट ऑपरेशन में अमृतसर के पास पाकिस्तान बॉर्डर पर साजिश का पर्दाफाश किया

नार्को-टेररिज्म : पाकिस्तानी घुसपैठिया मारा गया, 14.8 किलो हेरोइन और हथियार बरामद

पाकिस्तानी घुसपैठिये के पास से बरामद की गई हेरोइन.

नई दिल्ली:

पंजाब (Punjab) में पाकिस्तान बॉर्डर (Pakistan Border) पर नार्को-टेररिज्म (Narco-Terrorism) की एक साजिश का पर्दाफाश करते हुए एनसीबी (NCB) ने बीएसएफ (BSF) के साथ मिलकर एक ज्वाइंट ऑपरेशन में एक पाकिस्तानी घुसपैठिये को मार गिराया. उसके पास से 14.8 किलोग्राम हेरोइन, एक मैगजीन और 9 MM के 6 कारतूस बरामद हुए हैं. एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर ऑपरेशन केपीएस मल्होत्रा के मुताबिक नार्को-टेररिज्म को लेकर उनकी टीम को एक खुफिया जानकारी मिली थी. पिछले दो महीनों से एनसीबी अमृतसर के पास पाकिस्तान बॉर्डर पर नज़र रखे हुए थी. 12-13 फरवरी की रात में एनसीबी और सीमा सुरक्षा बल द्वारा एक खुफिया सूचना के बाद ज्वाइंट ऑपेरशन किया गया.

बीएसएफ और एनसीबी अमृतसर के अधिकारियों द्वारा बीएसएफ की खलरा चौकी के पास नाकेबंदी की गई. रात करीब 2:30 बजे ज्वाइंट टीम ने सीमा पार से तस्करों की हलचल महसूस की. कुछ संदिग्ध लोगों को बॉर्डर पार पाकिस्तान से आते हुए देखा गया. NCB-BSF की टीम की तरफ से उन्हें सरेंडर करने की चेतावनी दी गई. लेकिन जब बॉर्डर पार कर रहा एक शख्स नहीं माना तो बीएसएफ ने फायरिंग कर दी. इसमें घुसपैठिया ढेर हो गया. मौके से चौदह अलग-अलग पैकेटों में पैक 14.8 किलोग्राम हेरोइन के साथ एक पाकिस्तानी नागरिक का शव मिला. साथ ही हथियार और कारतूस बरामद हुए.


एनसीबी के मुताबिक नार्को-टेररिज्म को लेकर पिछले कई महीनों में एक हैरान करने वाली बात सामने आई है. पंजाब बॉर्डर पर कई जगह एक लंबा पीवीसी पाइप बरामद हुआ है, जिसका एक सिरा पाकिस्तान में और मुंह भारत सीमा में खुलता है. उसका इस्तेमाल ड्रग तस्करी में होता है. यह पाकिस्तानी ड्रग तस्करों के लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करने और रात के दौरान कांटेदार तार की बाड़ तक पहुंचने और फिर भारतीय सीमा की ओर पीवीसी पाइप के माध्यम से हेरोइन पैकेट को आगे बढ़ाने का एक तरीका है.

6cmh8sc8

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


NCB पंजाब बोर्डर पर होने वाले नार्को-टेररिज्म और ड्रग स्मगलिंग पर पैनी निगाह बनाए हुए है. यही वजह है कि पिछले 3 सालों के मुकाबले तीन गुना से भी ज्यादा, साल 2020 में पंजाब बॉर्डर से NCB ने 51 मामलों में 211 किलोग्राम हेरोइन बरामद की है.