जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ पीएम मोदी के स्तर पर बैठक उचित पहल : मायावती

मायावती ने आगे लिखा कि साथ ही, जम्मू-कश्मीर विधानसभा सीटों के लिए जारी नए परिसीमन के काम की यथाशीघ्र समाप्ति व वहां आमचुनाव आदि ऐसे मुद्दे हैं, जिन पर देश की निगाहें लगी हुई हैं.

जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ पीएम मोदी के स्तर पर बैठक उचित पहल : मायावती

जम्मू-कश्मीर पर पीएम के स्तर पर बैठक पर मायावती ने दी ये प्रतिक्रिया

लखनऊ:

पीएम मोदी ने 24 जून को सर्वदलीय बैठक बुलाई है, जिसमें फारूक अब्दुल्ला नीत गुपकार गठबंधन ने शामिल होने के लिए हां कहा है. कश्मीर पर बैठक को लेकर बीएसपी की नेता मायावती (Mayawati) ने भी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि सीधे पीएम मोदी के स्तर पर जम्मू-कश्मीर के सम्बंध में वहां के 14 लीडरों की 24 जून की बैठक उचित पहल है. करीब दो वर्ष के अंतराल के बाद की यह बैठक कुछ ठोस फैसलों के साथ सार्थक सिद्ध होगी व जम्मू-कश्मीर राज्य की पुनः बहाली आदि के लिए भी मददगार साबित होगी, ऐसी आशा है.

मायावती ने आगे लिखा कि साथ ही, जम्मू-कश्मीर विधानसभा सीटों के लिए जारी नए परिसीमन के काम की यथाशीघ्र समाप्ति व वहां आमचुनाव आदि ऐसे मुद्दे हैं, जिन पर देश की निगाहें लगी हुई हैं. केन्द्र को अपने वादे व दावे के मुताबिक-जम्मू-कश्मीर में स्थिति को जल्द बहाल करने का प्रयास तेज करना चाहिए, बीएसपी की सलाह.


पीएम मोदी की कश्मीर पर सर्वदलीय बैठक का न्योता फारूक अब्दुल्ला नीत गुपकार गठबंधन को मंजूर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि इस बैठक में न्योते को लेकर मंगलवार को गुपकार गठबंधन ने बैठक की थी, जिसमें बैठक में शामिल होने को लेकर फैसला हुआ. गुपकर गठजोड़ ने कहा है कि इस बैठक में वे अपना स्टैंड सामने रखना चाहते हैं. इनकी मांग है कि कश्मीर में धारा 370 की बहाली हो और फिर राज्य का दर्जा मिले. इस मामले पर फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि हम लोग बैठक में हिस्सा लेंगे और पीएम व गृहमंत्री के आगे अपना पक्ष रखेंगे. महबूबा जी, तारीगामी जी और मैं जाएंगे और अपना पक्ष उनके सामने रखेंगे.