मनसुख हिरेन केस: CCTV फुटेज का सीन रिक्रिएट करने के लिए सचिन वाजे को स्‍टेशन लेकर पहुंची NIA

25 फरवरी को दक्षिण मुम्बई में मुकेश अंबानी के घर के पास एक SUV से जिलेटिन की छड़ें बरामद होने और फिर हिरेन की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद वाजे NIA की जांच के घेरे में आए थे.

मनसुख हिरेन केस: CCTV फुटेज का सीन रिक्रिएट करने के लिए सचिन वाजे को स्‍टेशन लेकर पहुंची NIA

4 मार्च की CCTV फुटेज में सचिन वाजे CSMT से ठाणे के लिए ट्रेन पकड़ते दिखे थे

खास बातें

  • सचिन वाजे को छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस ले जाया गया
  • 4 मार्च की फुटेज में वाजे यहीं से ठाणे के लिए ट्रेन पकड़ते दिखे थे
  • बाद में एनआईए टीम वाजे को ठाणे जिले के मुंब्रा क्रीक लेकर गई
मुंंबई:

मनसुख हिरेन (Mansukh Hiran) की मौत के मामले की जांच के सिलसिले में नेशनल इनवेस्‍टीगेशन एजेंसी (NIA), निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे (Sachin Vaze) को छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT) ले गई. गौरतलब है कि हिरेन की जिस दिन मौत हुई थी, वाजे ने उसी दिन यहीं से निकटवर्ती ठाणे के लिए ट्रेन पकड़ी थी.पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि 4 मार्च की सीसीटीवी फुटेज में वाजे CSMT से ठाणे के लिए ट्रेन पकड़ते दिखे थे. इसलिए चीजों को समझने के लिए NIA मंगलवार रात वाजे को स्टेशन ले गई. इसके बाद एनआईए वाजे को ठाणे जिले के मुंब्रा क्रीक ले गई, जहां से पांच मार्च को हिरेन का शव बरामद हुआ था.

अनिल देशमुख और महाराष्ट्र सरकार के SC जाने से पहले ही कैविएट दाखिल, वकील ने कहा- 'हमारी भी सुनें'

25 फरवरी को दक्षिण मुम्बई में मुकेश अंबानी के घर के पास एक SUV से जिलेटिन की छड़ें बरामद होने और फिर हिरेन की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद वाजे NIA की जांच के घेरे में आए थे. वाजे को 13 मार्च को गिरफ्तार किया गया था. अधिकारी ने बताया कि सोमवार को CSMT पर जांच के दौरान NIA के अधिकारियों ने वाजे का ‘प्लेटफॉर्म नंबर'-चार पर चलने को कहा ताकि सीसीटीवी फुटेज में दिखे व्यक्ति और उनकी चाल की तुलना की जा सके. इसके बाद वाजे को मुंब्रा क्रीक ले जाया गया, जहां पिछले महीने हिरन का शव बरामद हुआ था. 


एंटीलिया केस : कारों के बाद अब स्पोर्ट्स बाइक की एंट्री, केस में बाइक के रोल की जांच कर रही NIA

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने बताया कि NIA टीम CSMT और मुंब्रा क्रीक पर एक-एक घंटे से ज्यादा रुकी. उनके साथ कुछ चश्मदीद, फोरेंसिक विशेषज्ञ और रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारी भी मौजूद थे.इससे पहले, एनआईए वाजे को एक पांच सितारा होटल, जहां वह नकली पहचान पत्र दिखाकर रुके थे, उपनगरीय अंधेरी स्थित एक कार्यालय, जहां कथित तौर पर पूरी साजिश रचने के लिए बैठक की गई थी और मुंब्रा क्रीक सहित कई स्थानों पर ले जा चुकी है. NIA ने जांच के दौरान वाजे द्वारा इस्तेमाल किए गए जाने वाले कई महंगे वाहन भी जब्त किए हैं.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)