महाराष्ट्र के मंत्री ने माना, राज्य में कोरोना की तीसरी लहर आई, फिर से लगेगी पाबंदियां

महाराष्ट्र के मंत्री नितिन राउत ने कहा है कि बहुत दिनों बाद दोगुने कोरोना पॉजिटिव मामले आ गए हैं. महाराष्ट्र में तीसरी लहर आ गई है. जल्द ही कोविड आपदा प्रबंधन बल की बैठक होगी.

मुंबई:

महाराष्ट्र (Maharashtra Corona Cases) में कोरोना से जुड़ी सारी पाबंदियां खत्म होने के बाद कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों ने चिंता बढ़ा दी है. महाराष्ट्र के मंत्री नितिन राउत ने कहा है कि नागपुर में बहुत दिनों बाद दोगुने कोरोना पॉजिटिव (Covid Positive) मामलों पर आ गए हैं. कोरोना की तीसरी लहर (Maharashtra Corona Third Wave) का आगमन हो गया है. राउत ने कहा कि जल्द ही कोविड आपदा प्रबंधन बल की बैठक होगी. कुछ पाबंदियां लगाने का फैसला किया गया है लेकिन इसके बारे में जनता के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा करके अंतिम फैसला लिया जाएगा. 

राउत ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर नागपुर पहुंच गई है. जिले में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं. उन्होंने यहां अधिकारियों के साक्ष समीक्षा बैठक की. राउत ने कहा कि स्थानीय प्रशासन कोविड से जुड़ी पाबंदियों का जल्द ही ऐलान कर सकता है. विदर्भ क्षेत्र में अगस्त माह में कोरोना के केस तेजी से नीचे आए थे. कई दिनों से इस क्षेत्र में कोरोना से जुड़ी एक मौत भी नहीं हुई. नागपुर जिले में 17 अगस्त से सारी पाबंदियां हटा ली गई थीं.

दरअसल अन्य हिस्सों की तुलना में अगस्त में विदर्भ रीजन में कोविड मामलों में तेज़ गिरावट देखी गई थी. विदर्भ के नागपुर ज़िले में अगस्त में सिंगल डिजिट मामले ही रिपोर्ट हो रहे थे लेकिन बीते लगातार दो दिनों से डबल डिजिट मामले रिपोर्ट हो रहे हैं. 

सोमवार का आंकड़ा देखें तो टॉप पर चल रहे पूरे पुणे सर्कल ने 1267 मामले, मुंबई सर्कल ने 728 मामले, नाशिक सर्कल ने 953, कोल्हापुर सर्कल ने 517 तो पूरे नागपुर सर्कल ने सबसे कम 14 मामले रिपोर्ट किए.

नागपुर में सिंगल डिजिट मामलों के कारण 17 अगस्त से लगभग सारी पाबंदियां हटा ली गयीं थीं, अब डबल डिजिट मामलों ने सख़्तियों की तलवार फिर लटकायी है. हालांकि राज्य स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि फ़िलहाल कहीं भी पाबंदी बढ़ाने पर विचार नहीं, पर बढ़ते आंकड़ों पर सरकार की नज़र बनी है.

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा, 'महाराष्ट्र में दूसरी लहर की शुरुआत विदर्भ रीजन के अमरावती ज़िले से ही हुई थी,
नागपुर सहित 11 ज़िलों वाले विदर्भ रीजन में डेल्टा प्लस के कुल 25 मामले हैं. रोज़ाना क़रीब 800 मामले रिपोर्ट करने वाले अहमदनगर और पुणे की तुलना में नागपुर बेहद शांत है पर ज़रा सी बढ़त ने चिंता बढ़ायी है.'


महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में ही सितंबर के करीब एक हफ्ते के समय में लगभग 2600 मामले रिपोर्ट हो चुके हैं. अगस्त के मुकाबले सितंबर में कोरोना संक्रमण में बढ़ोतरी ने बृहन्मुंबई महानगरपालिका की चिंता बढ़ा दी है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना के 3,626 नए केस मिले. हालांकि 15 फरवरी के बाद ये सबसे कम आंकड़ा है. इन 24 घंटे के दौरान 37 कोरोना मरीजों की मौत हुई है. मगर सितंबर में कुछ जिलों में दोबारा संक्रमण बढ़े हैं. महाराष्ट्र में सोमवार को आए केस को मिलाकर अब तक 64,89,800 मरीजों के संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है. इनमें से 1,37,811 कोविड-19 मरीजों की मौत हुई है.