सोनिया गांधी से मिले महाराष्ट्र के कांग्रेस विधायक, दो वरिष्‍ठ मंत्रियों की शिकायत की

बैठक के दौरान विकास ठाकरे, कुणाल पाटिल, संग्राम थोपटे सहित अन्य विधायकों ने बताया कि राकांपा नेता एवं उप मुख्यमंत्री अजित पवार और शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने अपने-अपने दलों के विधायकों की प्रभावी रूप से मदद की जबकि कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा में उपेक्षित महसूस किया.

सोनिया गांधी से मिले महाराष्ट्र के कांग्रेस विधायक, दो वरिष्‍ठ मंत्रियों की शिकायत की

महाराष्‍ट्र के विधायकों की सोनिया गांधी के साथ बैठक 35 मिनट तक चली

नई दिल्‍ली :

महाराष्ट्र के कांग्रेस विधायकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को यहां पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की.समझा जाता है कि इस दौरान विधायकों ने वरिष्ठ मंत्रियों-बालासाहेब थोराट और अशोक चव्हाण के खिलाफ शिकायत की.पार्टी सूत्रों ने कहा कि सोनिया गांधी के साथ लगभग 35 मिनट तक चली बैठक के दौरान 22 विधायकों के प्रतिनिधिमंडल ने कांग्रेस विधायक दल के भीतर समन्वय की कमी और विकास कार्यों के लिए विधायकों के लिए निर्धारित सरकारी धन की अनुपलब्धता जैसे मुद्दों को उठाया.बैठक के दौरान विकास ठाकरे, कुणाल पाटिल, संग्राम थोपटे सहित अन्य विधायकों ने बताया कि राकांपा नेता एवं उप मुख्यमंत्री अजित पवार और शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने अपने-अपने दलों के विधायकों की प्रभावी रूप से मदद की जबकि कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा में उपेक्षित महसूस किया.

महाराष्ट्र में शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस के गठबंधन वाली सरकार है.समझा जाता है कि गांधी ने महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष के चुनाव में देरी पर भी चिंता व्यक्त की. पिछले साल फरवरी में नाना पटोले के इस्तीफे के बाद से यह पद खाली है.विधायकों ने विभिन्न राज्य निगमों में नियुक्तियों का मुद्दा भी उठाया और गठबंधन के तीनों सहयोगियों की भागीदारी के लिए पारदर्शी प्रक्रिया की वकालत की. समझा जाता है कि गांधी ने विधायकों से अपनी शिकायतें लिखित में देने को कहा है.

उधर, कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा है कि कुछ दिन पहले एक कार्यक्रम में तलवार लहराने के मामले में कांग्रेस के दो मंत्रियों के खिलाफ FIR दर्ज होने को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को अपनी नाराजगी से अवगत करा दिया है.बांद्रा में एक समारोह के दौरान तलवारें लहराने को लेकर पिछले महीने कांग्रेस के मंत्री असलम शेख और वर्षा गायकवाड़ तथा पार्टी के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रमुख इमरान प्रतापगढ़ी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी.पटोले ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा कि देश भर में इस तरह के आयोजनों में अक्सर तलवारें लहराई जाती हैं और कांग्रेस चाहती है कि पुलिस की मनमानी को नियंत्रित किया जाए.प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने राज्य के गृह विभाग के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा, 'ऐसे मामलों में अगर पुलिस अधिकारी गलत कार्रवाई कर रहे हैं, तो गृह मंत्री को उनके खिलाफ सख्त कदम उठाना जरूरी है लेकिन ऐसा नहीं हुआ.'राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के दिलीप वलसे पाटिल महाराष्ट्र के गृह मंत्री हैं.पटोले ने कहा, 'मुख्यमंत्री ने इस मुद्दे पर बैठक की है। हमने मंत्रियों के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने पर नाराजगी जताई है.'

- ये भी पढ़ें -

* सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने 22 यूट्यूब चैनलों को किया ब्लॉक, 4 पाकिस्तान से जुड़े
* दक्षिण दिल्ली में नगर निगम के फरमान के बाद मीट की सभी दुकानें बंद
* राहुल-प्रियंका को 'किनारे हटने' की सलाह देने वाले पार्टी प्रवक्ता को कांग्रेस ने पद से हटाया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गोरखपुर हमले के मामले में मुंबई पहुंची यूपी एटीएस की टीम



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)