'तुम्हें यहां बसने को किसने कहा था?' नदी का पानी लाल होने पर मंत्री ने आदिवासियों को हड़काया

एमपी की मंत्री उषा ठाकुर विवादास्पद टिप्पणियों के लिए जानी जाती हैं. पिछले साल भी उन्होंने जय आदिवासी युवा शक्ति (JAYS) के खिलाफ राष्ट्र-विरोधी टिप्पणी की थी. JAYS एक आदिवासी संगठन है, जिसने पिछले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के साथ गठबंधन किया था.

'तुम्हें यहां बसने को किसने कहा था?' नदी का पानी लाल होने पर मंत्री ने आदिवासियों को हड़काया

एमपी की मंत्री उषा ठाकुर विवादास्पद टिप्पणियों के लिए जानी जाती हैं.

धार/भोपाल:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के धार जिले के भेरू घाट में कारम नदी में लाल पानी आने से स्थानीय आदिवासी किसान चिंतित हो उठे हैं. इस बीच हालात का जायजा लेने वहां पहुंची बीजेपी की मंत्री उषा ठाकुर (Usha Thakur) ने आदिवासियों को हड़काते हुए कहा कि तुम्हे यहां किसने बसने को कहा था. दरअसल, भेरू घाट से आकर आदिवासी अंचल सहित ग्राम गुजरी से गुजरने वाली नदी का पानी लाल हो गया है. ये पानी नर्मदा तक पहुंचकर बड़ा नुकसान कर सकता है क्योंकि स्थानीय लोगों को आशंका है कि नदी का पानी केमिकल की वजह से लाल हुआ है.

जब राज्य की पर्यावरण मंत्री उषा ठाकुर वहां पहुंचीं तो आदिवासी युवाओं के सवाल पर उन्होंने कहा, "पहले ये बताओ कि तुमलोग ऐसी विचित्र जगह पर बसे क्यों हो ? तुमने बसने से पहले यहाँ क्या व्यवस्था देखी थी?" मंत्री ने कहा कि आपके दादा, परदादा तो तकलीफ वाली जगहों में तो रहे ही, तुम यहाँ खुद आकर बसे हो. तुम्हें किन्हीं ने थोड़ी बोला था यहाँ बसने को.


Covid-19 के अलावा अन्य कारणों से भी अनाथ हुए बच्चों की जिम्मेदारी उठाएगी मध्य प्रदेश सरकार : चौहान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एमपी की मंत्री उषा ठाकुर विवादास्पद टिप्पणियों के लिए जानी जाती हैं. पिछले साल भी उन्होंने जय आदिवासी युवा शक्ति (JAYS) के खिलाफ राष्ट्र-विरोधी टिप्पणी की थी. JAYS एक आदिवासी संगठन है, जिसने पिछले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के साथ गठबंधन किया था. JAYS के खिलाफ ठाकुर की टिप्पणी की विपक्षी कांग्रेस ने कड़ी निंदा की थी. यहां तक कि उन्हें  कैबिनेट से बर्खास्त करने की मांग भी की गई थी. विधानसभा में भी इस मुद्दे को उठाया गया था.