लखीमपुर खीरी हिंसा के खिलाफ गाजियाबाद में वकीलों ने निकाली रैली

केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी, वकीलों ने मांग की कि राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा के खिलाफ तीन अक्टूबर की घटना के संबंध में मामला दर्ज किया जाए

लखीमपुर खीरी हिंसा के खिलाफ गाजियाबाद में वकीलों ने निकाली रैली

लखीमपुर खीरी में 3 अक्टूबर को जीप ने किसानों को कुचल दिया.

गाजियाबाद:

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में आठ लोगों की मौत के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने के लिए बुधवार को अनेक वकीलों ने जिला अदालत परिसर से कलेक्ट्रेट तक रैली निकाली. अधिवक्ता संघर्ष समिति के बैनर तले वकीलों ने केंद्र और राज्य की सरकारों के प्रतीक पुतले जलाए. उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और मांग की कि राज्य मंत्री (गृह) अजय कुमार मिश्रा के खिलाफ तीन अक्टूबर की घटना के संबंध में मामला दर्ज किया जाए.

पुलिस ने किसानों की मौत को लेकर अजय कुमार मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा समेत कई अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है. समिति के अध्यक्ष नाहर सिंह यादव और अन्य पदाधिकारियों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को संबोधित एक ज्ञापन में कहा कि अधिवक्ताओं की मांग है कि आशीष मिश्रा को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए. उन्होंने यह ज्ञापन जिला मजिस्ट्रेट को सौंपा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में रविवार को उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे के खिलाफ किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में आठ लोगों की मौत हो गई. मारे गए आठ लोगों में से चार किसान थे. भाजपा कार्यकर्ताओं को ले जा रहे एक वाहन ने कथित तौर पर उन्हें कुचल दिया था. अन्य चार पीड़ितों में दो भाजपा कार्यकर्ता शामिल हैं, जिन्हें कथित तौर पर गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने पीट-पीट कर मार डाला.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)