किसानों को मारने की 'सुनियोजित साजिश' : लखीमपुर केस में 'मंत्री-पुत्र' पर बोली पुलिस

स्‍पेशल इनवेस्‍टीगेशन टीम (SIT) ने अदालत में अर्जी देकर कहा है कि यह यह लापरवाही से गाड़ी चलाने का मामला नहीं है बल्कि आशीष मिश्रा और उसके साथियों ने योजना बना कर किसानों की हत्या की है.

लखीमपुर खीरी कांड में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बड़ा झटका लगा है. मामले की जांच कर रही स्‍पेशल इनवेस्‍टीगेशन टीम (SIT) ने अदालत में अर्जी देकर कहा है कि यह यह लापरवाही से गाड़ी चलाने का मामला नहीं है बल्कि आशीष मिश्रा और उसके साथियों ने योजना बना कर किसानों की हत्या की है. मामले की जांच कर रही SIT ने भी अदालत से कह दिया कि इन पांच किसानों की हत्या की गई है. अदालत को दी गयी रज़ी में जांच अधिकारी ने लिखा, 'अभियुक्तगणों द्वारा उक्त आपराधिक कृत्य को लापरवाही एवं उपेक्षा से नहीं बल्कि जानबूझकर,पूर्व से सुनियोजित योजना के अनुसार,जान से मारने की नीयत से किया गया है.' SIT ने अदालत से दरख्वास्त की कि FIR से लापरवाही से गाड़ी चलाने की दफा हटाकर नई दफ़ाएं लगाई जाएं.

आशीष मिश्रा के वकील अवधेश सिंह ने कहा, '304A,338,279 इसका विलोपन कर दिया है. विवेचक ने इसको हटा दिया है. यह धाराएं हटा दी गई हैं, अब जो बाकी धाराएं हैं उसमें 302/120B पहले से थी और जो एडेड सेक्शन्स हैं वह 307,326,34 और 3/25.' गौरतलब है कि 3 अक्टूबर को हुए इस कांड की 50 से ज़्यादा वीडियोज़ सबूत के तौर पर एसआईटी दी गयी हैं, जिसके आधार पर मामले में गृह राज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा समेत 13 लोग गिरफ्तार किए गए हैं. किसानों के वकीलों का तो यह तक दावा है कि उस दिन योजना के तहत बाहर से गुंडे बुलाये गए थे. किसानों के वकील मोहम्‍मद अमान कहते हैं, 'जांच होने के बाद और गवाहों के जो बयान हुए हैं और एसआईटी ने जो जांच की है, उससे यह बात क्लियर हुई है कि इस मामले में कई लोग थे. कुछ लखनऊ के भी थे और कुछ बाहर के भी लोग थे. उन्होंने पूरी प्लानिंग करके बाहर से गुंडों को बुलाया था. उसके बाद प्लानिंग करके किसानों को मारा गया है.'

गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्रा पर SIT रिपोर्ट में 'हत्या' का आरोप लगाते ही विपक्ष ने प्रधानमंत्री पर हमला बोल दिया. कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले पर लोकसभा में बहस न करने देने पर नाराज़गी जताई. राहुल ने कहा, "एक मंत्री ने किसानों को मारने के काम किया. पीएम उनकी टीम में हैं.उस समय भी डिस्कशन नहीं होने दियाजैसे इनको चुप किया है,वैसे ही उस समय भी हम सबको चुप किया." कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र की बर्खास्तगी की मांग की. उन्होंने लिखा,' न्यायालय की फटकार व सत्याग्रह के चलते अब पुलिस का भी यह कहना है कि गृह राज्य मंत्री के बेटे ने साज़िश कर के किसानों को कुचला था. जांच होनी चाहिए कि इस साजिश में गृह राज्य मंत्री की क्या भूमिका थी?लेकिन नरेंद्र मोदी जी ने किसान विरोधी मानसिकता के चलते इन्हें पद से हटाया भी नहीं. मोदी जी, अजय टेनी को बर्खास्‍त कीजिए.' 

पूर्व सीजेआई जस्टिस रंजन गोगोई अपने एक बयान की वजह से घिर गए

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com