मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी के पीछे, उसके भटकाने वाले जवाब और फोन लोकेशन: सूत्र

लखीमपुर खीरी मामले में केंद्रीय मंत्री के आरोपी बेटे ने स्वीकार किया कि किसानों के ऊपर से दौड़ी एसयूवी उसकी है, लेकिन उसका कहना है कि वह उसमें नहीं था.

मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी के पीछे, उसके भटकाने वाले जवाब और फोन लोकेशन: सूत्र

लखीमपुर खीरी मामले में मंत्री का आरोपी बेटा आशीष मिश्रा गिरफ्तार. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

लखीमपुर खीरी कांड में मंत्री के आरोपी बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद एक के बाद एक कई खुलासे हो रहे हैं. उत्तर प्रदेश पुलिस के सूत्रों ने एनडीटीवी को बताया कि शनिवार को गिरफ्तार किया गया जूनियर केंद्रीय गृह मंत्री अजय मिश्रा का बेटा आशीष मिश्रा पिछले हफ्ते लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के दौरान अपने ठिकाने के बारे में कई सवालों के जवाब नहीं दे पाया.

सूत्रों के मुताबिक रविवार को जहां आशीष मिश्रा ने कहा था कि वह घटनास्थल से करीब 4-5 किलोमीटर दूर कुश्ती प्रतियोगिता में था, वहीं कुश्ती प्रतियोगिता में तैनात पुलिसकर्मियों और वहां मौजूद लोगों के बयानों से पता चलता है कि मंत्री का बेटा दोपहर 2 से 4 बजे के बीच वहां नहीं था.

उन्होंने कहा कि आशीष मिश्रा के मोबाइल टॉवर की लोकेशन भी अपराध स्थल और उसके आसपास की दिखी है. हालांकि आशीष मिश्रा ने पुलिस को बताया है कि वह उस समय अपनी चावल मिल में था, जो उसी टॉवर की लोकेश में अपराध स्थल के करीब है.

आशीष मिश्रा के सहयोगियों द्वारा किसानों के खिलाफ उसके ड्राइवर हरिओम सहित उसके तीन लोगों की कथित तौर पर हत्या करने के लिए दर्ज कराई गई FIR में भी दो बातें निकल कर आ रही हैं.

भले ही प्राथमिकी में कहा गया था कि किसानों के ऊपर दौड़ी महिंद्रा थार हरिओम चला रहा था, पुलिस द्वारा विश्लेषण किए गए वीडियो से पता चलता है कि सफेद शर्ट या कुर्ता पहने एक व्यक्ति थार चला रहा है; जब उनका शव अस्पताल लाया गया तो हरिओम पीले रंग का कुर्ता पहने पाया गया.

सूत्रों ने कहा कि इन तीन विवादित बिंदुओं और आशीष मिश्रा के तथ्यों के साथ सामने नहीं आने के आधार पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस ने यह भी कहा कि वह अपने जवाबों में "बचकाना" था और सहयोग नहीं कर रहा था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यह भी पढ़ेंः