ट्रैक्‍टर रैली हिंसा: NDTV से बोले किसान नेता वीएम सिंह, 'जो हुआ शर्मनाक हुआ, आंदोलन रहेगा लेकिन स्‍वरूप बदलेगा'

राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के वीएम सिंह ने कहा कि जब तक किसान को न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (MSP) पर खरीद की गारंटी नहीं मिलती है, तीन बिल खत्म होने की बात थी लेकिन मुद्दा भटक गया.

नई दिल्ली:

Kisan Rally Violence: गणतंत्र दिवस पर किसानों की ओर से आयोजित ट्रैक्‍टर रैली (Tractor Rally) के दौरान हिंसा से जुड़े मामले में किसान नेता वीएम सिंह (VM singh)ने कहा, जो भी हुआ, शर्मनाक हुआ. NDTV से बातचीत में अपना पक्ष रखते हुए उन्‍होंने कहा, '26 तारीख को मुद्दा बदलने की बात की तो होड़ लग गई कि दिल्ली पहले कौन पहुंचेगा.' दिल्‍ली में हुई हिंसा को लेकर वीएम सिंह ने कहा, 'जो भी हुआ शर्मनाक हुआ. मुझे लगा कि ये सही तरीके से काम नहीं हुआ. उसी का फ़ायदा सरकार को मिला. माहौल ऐसा बना कि आंदोलन अपने मुद्दे से भटक गया.'

योगेंद्र यादव बोले, 'सरकार यदि बातचीत ईमानदारी से करती तो यह नौबत नहीं आती'

उन्‍होंने कहा, 'मीटिंग में रूट तय हुआ था. हम राकेश टिकैत से मिले थे. मैंने कहा था कि कोई गलती न हो लेकिन बाद में पता चला कि रूट बदल दिया गया. मैंने तो परसों रात को ही ऐलान कर दिया था कि हम अलग होंगे. हम तो किसान आंदोलन में कितनी बार जेल गए हैं. हमने राकेश टिकैत को सपोर्ट किया था. ये आंदोलन रहेगा लेकिन इसका स्वरूप बदलेगा.


कृषि कानून: प्रदर्शन कर रहे किसानों को पुलिस ने हटाने की कोशिश की, दिल्‍ली-यूपी बॉर्डर पर तनाव

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के वीएम सिंह ने कहा कि जब तक किसान को न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (MSP) पर खरीद की गारंटीनहीं मिलती है, तीन बिल खत्म होने की बात थी लेकिन मुद्दा भटक गया. हम जब हटे तो लोग हटने लगे. वहां आज 500 लोग भी नहीं थे. हालांकि यह मुद्दा जीवित रहेगा. आंदोलन का स्वरूप बदलेंगे. हमें एमएसपी की गारंटी चाहिए.