नानकसर गुरुद्धारे के प्रमुख बाबा लक्खावाल ने कृषि मंत्री से की भेंट, किसान आंदोलन पर हुई चर्चा

आंदोलनरत किसान कृषि कानूनों को निरस्त करने, फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानूनी गारंटी देने तथा दो अन्य मुद्दों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं.

नानकसर गुरुद्धारे के प्रमुख बाबा लक्खावाल ने कृषि मंत्री से की भेंट, किसान आंदोलन पर हुई चर्चा

Kisan Aandolan: बाबा लक्खावाल ने गुरुवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से भेंट की

नई दिल्ली:

पंजाब के नानकसर गुरुद्वारे के प्रमुख बाबा लक्खावाल जी ने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) से  आज दिल्ली में मिलकर किसान आंदोलन से संबंधित चर्चा की. कृषि मंत्रालय की ओर से यह जानकारी दी गई. हरियाणा के पूर्व विधायक श्री नरेश यादव के नेतृत्व में पदयात्रा कर दिल्ली पहुंचे किसानों के प्रतिनिमंडल ने आज केंद्रीय मंत्री तोमर से  कृषि भवन में मिलकर नए कृषि कानूनों का समर्थन किया. गौरतलब है कि तीन कृषि कानूनोंके विरोध (Farmers Protest) में पंजाब, हरियाणा और देश के कुछ अन्य भागों के हजारों किसान पिछले 40 दिनों से ज्यादा समय से दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर डटे हुए हैं.

खुद ट्रैक्टर चलाकर रैली में आई 54 साल की महिला किसान, पति-बेटे के मौत के बाद से संभाल रही है खेती

भीषण ठंड और बारिश भी इन्‍हें अपने इरादे से डिगा नहीं सके हैं. आंदोलनरत किसान कृषि कानूनों को निरस्त करने, फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानूनी गारंटी देने तथा दो अन्य मुद्दों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों और तीन केंद्रीय मंत्रियों के बीच सोमवार को सातवें दौर की बैठक बेनतीजा रही थी, दोनों पक्षों के बीच शुक्रवार 8 जनवरी को फिर बातचीत होगी.प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों ने कहा कि 26 जनवरी को हरियाणा, पंजाब और उत्तरप्रदेश के विभिन्न हिस्सों से राष्ट्रीय राजधानी में आने वाले ट्रैक्टरों की प्रस्तावित परेड के पहले यह ‘‘रिहर्सल'' की तरह है.


किसान आंदोलन पर बोले CJI- कोविड प्रोटोकॉल का पालन हो

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com