आसमान में उड़ने वाले परिंदों को मिलेगी गर्मी से राहत, कर्नाटक में पक्षियों के लिए लगाए गए 'प्याऊ'

कलबुर्गी नगर निगम के कमिश्नर ने कहा, "हमने बगीचों में पक्षियों के लिए वाटर प्वाइंट्स बनाए हैं. हम लोगों को मुफ्त में पानी उपलब्ध करवाने के लिए बस और रेलवे स्टेशनों पर पानी की व्यवस्था करेंगे."    

आसमान में उड़ने वाले परिंदों को मिलेगी गर्मी से राहत, कर्नाटक में पक्षियों के लिए लगाए गए 'प्याऊ'

पक्षियों के लिए कर्नाटक के कलबुर्गी जिले में बनाए गए प्याऊ

नई दिल्ली:

देश के तमाम हिस्सों में पारा बढ़ता जा रहा है. गर्मी का आलम यह है कि लोगों को मार्च महीने में ही मई-जून की गर्मी का एहसास होने लगा है. लोगों को गर्मी से राहत देने के लिए जगह-जगह प्याऊ लगाए जाते हैं. उसी तरह पंछियों की प्यास बुझाने के लिए भी कर्नाटक में प्याऊ की व्यवस्था की गई है. कर्नाटक के कलबुर्गी जिले में चिड़ियों के लिए पानी की व्यवस्था की गई है. यह पहल कलबुर्गी नगर निगम की है. कर्नाटक में गर्मी का असर दिखने लगा है. इसी के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कलबुर्गी नगर निगम ने बढ़ते तापमान के बीच चिड़ियों के लिए वाटर प्वाइंट्स स्थापित किए हैं. कलबुर्गी नगर निगम के कमिश्नर ने सोमवार को कहा, "हमने बगीचों में पक्षियों के लिए वाटर प्वाइंट्स बनाए हैं. हम लोगों को मुफ्त में पानी उपलब्ध करवाने के लिए बस और रेलवे स्टेशनों पर पानी की व्यवस्था करेंगे."    



दिल्ली में 1945 के बाद मार्च में सर्वाधिक तापमान दर्ज 
दिल्ली में होली के दिन सोमवार को अधिकतम तापमान 40.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो 76 वर्षों में मार्च में सबसे अधिक है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान 40.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया, जो सामान्य से आठ डिग्री अधिक है. उन्होंने कहा, ‘‘यह 31 मार्च 1945 के बाद से सबसे गर्म दिन था, जब अधिकतम तापमान 40.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(भाषा के इनपुट के साथ)