जेएनयू में हिंसा : दोनों गुटों ने एक-दूसरे पर एफआईआर कराई, विश्वविद्यालय ने दी चेतावनी

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) विवाद मामले में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP)ने दिल्ली पुलिस में  JNUSU, SFI , DSF से जुड़े छात्रों के खिलाफ शिकायत दी है.

जेएनयू में हिंसा : दोनों गुटों ने एक-दूसरे पर एफआईआर कराई, विश्वविद्यालय ने दी चेतावनी

JNU में नॉनवेज खाने को लेकर रविवार को हुई थी झड़प.

नई दिल्ली:

JNU Violence : जेएनयू में रामनवमी के दिन वामपंथी छात्र संगठन और एबीवीपी के बीच हुई हिंसा के बाद दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर एफआईआर कराई है. आरएसएस से जुड़े संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने आरोप लगाया है कि हवन को रोके जाने के बाद मारपीट शुरू हुई. विश्वविद्यालय प्रशासन ने भी इस दावे को सही ठहराया है. प्रशासन ने छात्रों को किसी भी प्रकार की हिंसक गतिविधियों में लिप्त होने को लेकर चेतावनी भी दी है. पुलिस का कहना है कि जेएनयूएसयू, एसएफआई और डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फेडरेशन की ओर से एबीवीपी सेजुड़े छात्रों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है. इसके बाद एबीवीपी की ओर से जवाबी केस दर्ज कराया गया. जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) विवाद मामले में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP)ने दिल्ली पुलिस में  JNUSU, SFI , DSF से जुड़े छात्रों के खिलाफ शिकायत दी है. दिल्ली पुलिस ने इन संगठनों के अज्ञात छात्रों के खिलाफ आईपीसी के सेक्‍शन-323/341/506/509/34  के तहत वसंत कुंज नार्थ थाने में केस दर्ज किया है. पुलिस के मुताबिक आरोपियों की पहचान करने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

गौरतलब है कि  जवाहरलाल यूनिवर्सिटी में रविवार को हुए झड़प को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक बयान जारी किया है. बयान में कहा गया है कि कैंपस में हिंसा बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. प्रशासन ने कहा कि 'हम फिर इस बात को दोहराते हैं कि कैंपस में किसी भी तरह की हिंसा को लेकर हमार जीरो टॉलरेंस का रवैया है.' यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर ने छात्रों से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील की है. नोटिस में कहा गया है कि जेएनयू प्रशासन की जानकारी में आया है कि छात्रों के दो पक्षों में कावेरी हॉस्टल में विवाद और झड़प हुआ है. घटना को गंभीरता से लेते हुए वाइस चांसलर, रेक्टर और अन्य अधिकारियों ने हॉस्टल पहुंचकर वहां छात्रों से मुलाकात की. 

वाइस चांसलर ने वहां मौजूद वार्डन्स को इस मामले में तुरंत जरूरी कदम उठाने को कहा और किसी भी तरह के संघर्ष से को टालने की सलाह दी है. कैंपस में सिक्योरिटी को सतर्क रहने को कहा गया है और अगर ऐसी कोई भी घटना होती है, तो इसकी जानकारी तुरंत जेएनयू प्रशासन को देने को कहा गया है. 

नोटिस में कहा गया है कि अगर कोई भी छात्र हिंसा, या उपद्रव की गतिविधियों में शामिल पाया जाएगा, तो उसके खिलाफ यूनिवर्सिटी के नियमों के हिसाब से एक्शन लिया जाएगा.

EXCLUSIVE: "मुझे ईंट फेंककर मारी..." - JNU झड़प में घायल स्टूडेंट अख्तरिसता अंसारी से बातचीत

शिक्षक संघ ने भी जारी किया है बयान

इस मामले में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय शिक्षक संघ ने भी बयान जारी किया है. संघ ने कावेरी छात्रावास के ‘मेस' में हुई झड़प की निंदा की और कुलपति से मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है. जेएनयूटीए ने रविवार देर रात एक बयान में कहा कि वह पूरे घटनाक्रम की जानकारी लेगा तथा तथ्यात्मक विवरण जुटाएगा.

बयान में कहा गया, ‘जेएनयूटीए किसी भी समूह के भोजन की पसंद को दूसरों पर थोपने के किसी भी प्रयास की निंदा करता है. मतभेद की खुन्नस निकालने लिए हिंसा के इस्तेमाल का विश्वविद्यालय समुदाय में कोई स्थान नहीं है.'

बता दें कि रविवार को कावेरी हॉस्टल में नॉनवेज खाना परोसे जाने से रोकने को लेकर हिंसा हुई थी. लेफ्ट विंग के छात्रों ने आरोप लगाया है कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्यों ने हॉस्टल में आकर मेस स्टाफ को नॉनवेज परोसने से रोका था और वहां मौजूद छात्रों पर हमला किया था. वहीं, एबीवीपी के सदस्यों ने आरोप लगाया है कि लेफ्ट विंग के छात्रों ने रामनवमी के अवसर पर हो रही पूजा को रोकने की कोशिश की थी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : मुझे ईंट फेंककर मारा... : JNU में नॉनवेज खाने के विवाद पर हमले में घायल छात्रा बोली