रिलायंस जियो ने 1.5 करोड़ डॉलर में खरीदी टू प्लेटफॉर्म्स में 25 फीसदी हिस्सेदारी

सैमसंग टेक्नोलॉजी एंड एडवांस्ड रिसर्च के पूर्व अध्यक्ष प्रणव मिस्त्री ने टू प्लेटफॉर्म्स की स्थापना की थी. यह स्टार्टअप कृत्रिम वास्तविकता के क्षेत्र में काम करता है और कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रौद्योगिकी पर आधारित उत्पाद बनाता है.

रिलायंस जियो ने 1.5 करोड़ डॉलर में खरीदी टू प्लेटफॉर्म्स में 25 फीसदी हिस्सेदारी

JIO प्लेटफॉर्म्स के निदेशक आकाश अंबानी ने इस हिस्सेदारी अधिग्रहण की घोषणा की.

नई दिल्ली:

डिजिटल सेवा कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स ने सिलिकॉन वैली स्थित टेक स्टार्टअप टू प्लेटफॉर्म्स में 25 प्रतिशत हिस्सेदारी लेने के लिए 1.5 करोड़ डॉलर का निवेश करने की शुक्रवार को घोषणा की. सैमसंग टेक्नोलॉजी एंड एडवांस्ड रिसर्च के पूर्व अध्यक्ष प्रणव मिस्त्री ने टू प्लेटफॉर्म्स की स्थापना की थी. यह स्टार्टअप कृत्रिम वास्तविकता के क्षेत्र में काम करता है और कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रौद्योगिकी पर आधारित उत्पाद बनाता है. इसे जियो प्लेटफॉर्म की एक औऱ बड़ी कामयाबी माना जा रहा है. जियो 5जी को लेकर भी तेजी से कदम आगे बढ़ा रही है.

जियो प्लेटफॉर्म्स के निदेशक आकाश अंबानी ने एक बयान में इस हिस्सेदारी अधिग्रहण की घोषणा करते हुए कहा, 'हम कृत्रिम बुद्धिमत्ता, मशीन लर्निंग, मेटावर्स एवं वेब 3.0 के क्षेत्रों में टू प्लेटफॉर्म्स की संस्थापक टीम की क्षमता और अनुभव से खासे प्रभावित हैं. हमें इन क्षेत्रों में उनके साथ मिलकर काम करने की प्रतीक्षा है.'

ढ़ेर सारा डाटा और Free में OTT सब्सक्रिप्शन देते हैं Jio, Airtel और Vi के ये टॉप प्लान्स

इस अवसर पर टू प्लेटफॉर्म्स के संस्थापक मिस्त्री ने कहा, 'भारत के डिजिटल कायांतरण में महत्वपूर्ण जियो के साथ काम करने के लिए रोमांचित हैं. हम एक साथ कृत्रिम बुद्धिमत्ता की सीमाओं को बढ़ाने और कृत्रिम वास्तविकता के अनुप्रयोग उपभोक्ताओं तक ले जाने की कोशिश करेंगे.'

Jio vs Vi: डेली 3GB डाटा देने वाला किसका 601 रुपये का प्लान है बेहतर?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस अधिग्रहण करार के तहत टू प्लेटफॉर्म्स जियो के साथ मिलकर नई प्रौद्योगिकी को अपनाने और कृत्रिम बुद्धिमत्ता, मेटावर्स एवं मिश्रित वास्तविकताओं जैसे बदलाव लाने वाली प्रौद्योगिकी के निर्माण के लिए काम करेगी.