भारत में 125 दिन बाद सबसे कम नए COVID-19 केस दर्ज

New Coronavirus Cases: देश में कोरोना के मामले लगातार घट रहे हैं. पिछले 24 घंटे में भारत में 125 दिन में सबसे कम 30,093 नए COVID-19 केस सामने आए हैं. वहीं 374 की मौत हुई है.

नई दिल्ली:

देश में कोरोना (COVID-19) के मामले लगातार घट रहे हैं. भारत में पिछले 24 घंटे में 30,093 नए मामले सामने आए, जो कि पिछले 125 दिनों में सबसे कम हैं. वहीं 374 की मौत हुई है. रिकवरी रेट भी बढ़कर 97.37% हो गई है. वहीं ठीक हुए मरीजों की बात करें तो कुल संख्या 3,03,53,710 हो गई है. पिछले 24 घंटे में 45,254 लोग ठीक हुए हैं. वीकली पोजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत से नीचे यानी 2.06% पर है.वहीं टीकाकरण की बात करें तो पिछले 24 घंटे में 52,67,309 डोज दी गईं. वहीं कुल डोज की बात करें तो अभी तक 41.18 करोड़ वैक्सीन दी जा चुकी हैं.


भारत को मॉडर्ना वैक्सीन की 75 लाख खुराकों की पेशकश
बता दें कि भारत को अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना की वैक्सीन (Moderna ) की 75 लाख खुराक लेने की पेशकश कोवैक्स कार्यक्रम के तहत की गई है.  विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने यह जानकारी दी है. डब्ल्यूएचओ की क्षेत्रीय निदेशक (दक्षिण पूर्व एशिया) डॉ. पूनम खेत्रपाल सिंह ने यह जानकारी दी है. मॉडर्ना की वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए भारत ने पहले ही मंजूरी दे दी है. नीति आयोग (NITI Aayog ) के सदस्य (स्वास्थ्य) वीके पॉल ने हाल ही में कहा था कि सरकार मॉडर्ना और फाइजर से कोविड-19 वैक्सीन को लेकर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कर रही है, इसमें किसी भी कानूनी कार्यवाही से छूट का मुद्दा भी शामिल है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


महाराष्ट्र में कोल्हापुर बना हॉटस्पॉट
गौरतलब है कि महाराष्ट्र दूसरी लहर के प्रकोप से पूरी तरह उबरने की कोशिश कर रहा है, लेकिन एक जिला ऐसा है, जिसमें लगाता बढ़ते केस उसे पीछे की ओर खींच रहा है. ये ऐसा जिला है, जो पीक के दौरान बिल्कुल शांत था, लेकिन अब राज्य का रोजाना 25% केस लोड और 18% मौतें दर्ज हो रही हैं. जिले में वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके 1368 लोग तो 5,745 सिंगल डोज वाले लोग कोविड पोजिटिव हुए हैं.अप्रैल में जब महाराष्ट्र दूसरी लहर के चरम पर था, तब कोल्हापुर जिले में रोजाना 100 मामले भी नहीं आते थे. जिले में महज 758 एक्टिव मरीज थे. लेकिन, जुलाई में महाराष्ट्र के कुल मामलों का लगभग 18% हिस्सा यहीं देखने मिल रहा है. दूसरी लहर की पीक के दौरान कोल्हापुर ने राज्य के केस लोड में 0.22 से 1% की ही भागीदारी दिखायी थी. अब यही जिला रोजाना राज्य का 25% केसलोड रिपोर्ट कर रहा है तो राज्य की करीब 18% मौतें भी कोल्हापुर में ही दर्ज हो रही हैं.