भारत में 201 दिन बाद COVID-19 के मामले 20,000 से नीचे आए, एक्टिव केस 3 लाख से कम

देश में कोरोना के रिकॉर्ड वैक्सीनेशन के बीच कोरोना के घटते मामलों ने अच्छी खबर दी है. स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा है कि देश में 5वीं बार एक करोड़ से ज्यादा कोविड-19 टीके लगाए गए हैं. पिछले 24 घंटे के दौरान देश में 1,02,22,525 टीके लगाए गए हैं.

भारत में 201 दिन बाद COVID-19 के मामले 20,000 से नीचे आए, एक्टिव केस 3 लाख से कम

Corona Cases Today : देश में करीब 9 महीनों में सबसे कम कोरोना मरीज मिले

नई दिल्ली:

भारत में कोरोना के मामले में पिछले 24 घंटे में बड़ी कमी देखी गई है. भारत में 201 दिन बाद पहली बार कोरोना के मामले (India Corona Cases Today)  20 हजार से कम आए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 18,795 कोरोना मरीज मिले हैं. पिछले 24 घंटे में 179 मरीजों की मौत हुई है. एक्टिव केस (Corona active Cases) भी तीन लाख से नीचे आ गए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी 2,92,206 एक्टिव केस हैं. देश में कोरोना के रिकॉर्ड वैक्सीनेशन (Covid Vacination)  के बीच कोरोना के घटते मामलों ने अच्छी खबर दी है.

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा है कि देश में 5वीं बार एक करोड़ से ज्यादा कोविड-19 टीके लगाए गए हैं. पिछले 24 घंटे के दौरान देश में 1,02,22,525 टीके लगाए गए हैं. जबकि कुल वैक्सीनेशन 87,07,08,606 तक पहुंच गया है. 

देश में कोरोना के ज्यादातर मामले केरल में सामने आ रहे हैं. लंबे समय से केरल में ही कोविड के 40 से 50 फीसी मरीज मिल रहे हैं. हालांकि तमिलनाडु, कर्नाटक, महाराष्ट्र  और आंध्र प्रदेश भी कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों में हैं. पूर्वोत्तर की बात करें तो मिजोरम में भी काफी बड़ी संख्या में केस सामने आ रहे हैं. 


कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या 3 लाख से भी नीचे आने से भी हेल्थकेयर वर्करों और फ्रंटलाइन वर्करों पर दबाव घटा है. इनमें से आधे सक्रिय मरीज केरल में हैं. जबकि महाराष्ट्र दूसरे नंबर पर हैं. कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में 10 से 20 हजार केबीच सक्रिय मरीज हैं. उत्तर प्रदेश में यह आंकड़ा एक हजार के भी काफी नीचे आ गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


केंद्र सरकार का लक्ष्य है कि दिसंबर तक एक अरब से ज्यादा कोरोना टीके लगा दिए जाएं ताकि कोरोना की आने वाली किसी भी लहर को बेअसर किया जा सके. हर दिन अब 70 से 75 लाख टीके लग रहे हैं. इससे भारत यह लक्ष्य हासिल करने के काफी करीब है.