भारत ने ब्रिटेन और चीन समेत इन 10 देशों को कोरोना की जोखिम की सूची में डाला

ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, सिंगापुर को जोखिम वाली श्रेणी में रखा गया है.  वहीं भारत का 99 देशों के साथ वैक्सीनेशन को मान्यता देने को लेकर समझौता हो चुका है.

भारत ने ब्रिटेन और चीन समेत इन 10 देशों को कोरोना की जोखिम की सूची में डाला

International Arrival को लेकर केंद्र ने 99 देशों से किया है समझौता

नई दिल्ली:

दुनिया भर में कोरोना का बढ़ता टीकाकरण (vaccination) और महामारी के उतार-चढ़ाव को देखते हुए केंद्र सरकार ने तमाम देशों से भारत आने वाले विदेश यात्रियों के लिए प्रोटोकॉल में बदलाव किया है. केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने नई गाइडलाइन जारी कर यूरोप, ब्रिटेन, चीन समेत कई देशों को जोखिम वाली श्रेणी में रखा है. नई गाइडलाइन के तहत ऐसे 10 देश रखे हैं, जहां से आने वाले यात्रियों को कुछ अतिरिक्त नियम शर्तों का पालन करना होगा. इसमें भारत आगमन के साथ कोविड टेस्टिंग शामिल है.

ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, सिंगापुर को जोखिम वाली श्रेणी में रखा गया है.  वहीं भारत का 99 देशों के साथ वैक्सीनेशन को मान्यता देने को लेकर समझौता हो चुका है. इसके तहत उन देशों में लग रही वैक्सीन को भारत मान्यता देता है और वे देश भारत की वैक्सीन को. समझौते के कारण इन देशों में कोविड वैक्सीन की दोनों डोज लगा चुके नागरिक भारत आ सकते हैं.


भारत में मान्यताप्राप्त कोविड वैक्सीन लगवा चुके नागरिक उन देशों में यात्रा के हकदार होते हैं. ऐसे में क्वारंटाइन होने की जरूरत नहीं पड़ती और आगमन के बाद किसी भी तरह के झंझट का सामना नहीं करना पड़ता. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इन देशों की सूची भी अपनी वेबसाइट पर जारी की है. साथ ही विदेश मंत्रालय और एयर सुविधा पोर्टल पर भी यह सूची अपलोड की गई है. इसमें यात्रियों को एयर सुविधा पोर्टल पर अपना वैक्सीन सर्टिफिकेट (vaccine certificate) औऱ अन्य जरूरी दस्तावेज अपलोड करने होते हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भारत में फिलहाल कोरोना की दो वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन लगवाई जा रही हैं. भारत ने इसके लिए अन्य देशों के साथ समझौता कर रखा है.