भारत ने जम्मू-कश्मीर पर चीन को दी नसीहत, दूसरे देशों के अंदरूनी मसलों में नहीं करें टिप्पणी

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि चीन को दूसरे देशों के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी नहीं करने की सलाह दी जाती है.

भारत ने जम्मू-कश्मीर पर चीन को दी नसीहत, दूसरे देशों के अंदरूनी मसलों में नहीं करें टिप्पणी

जम्मू-कश्मीर पर बयान देने पर भारत ने की चीन की कड़ी आलोचना (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

भारत (India) ने जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) के पुनर्गठन को लेकर चीन (China) की टिप्पणी पर बुधवार को कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की. भारत ने चीन को नसीहत देते हुए कहा कि चीन को दूसरे देशों के आंतरिक मसलों में टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है. जम्मू-कश्मीर के विशेष राज्य का दर्जा खत्म करने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के एक साल पूरा होने पर चीन ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर की स्थिति में एकतरफा बदलाव "अवैध और अमान्य" है. चीन की इसी बयान पर भारत की ओर से जवाब दिया गया है. 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि चीन को दूसरे देशों के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी नहीं करने की सलाह दी जाती है. श्रीवास्तव ने कहा कि हमने जम्मू कश्मीर पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के बयान पर गौर किया है. इस मामले में टिप्पणी करना चीन के अधिकार क्षेत्र में नहीं है. चीन को दूसरे देशों के अंदरूनी मसलों पर टिप्पणी नहीं करने की नसीहत दी जाती है.  

इससे पहले, चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि जम्मू कश्मीर की स्थिति में कोई भी एकतरफा बदलाव "अवैध एवं अमान्य" है. बता दें कि पांच अगस्त 2019 को देश के गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने और जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेश- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख- में बांटने का ऐलान किया था. 


दरअसल, जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त होने के एक साल पूरे होने पर पाकिस्तान के पत्रकार की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा, "चीन कश्मीर क्षेत्र के हालात पर करीबी से नजर रखता है. हमारा रुख सुसंगत और स्पष्ट है. यह पाकिस्तान और भारत के बीच इतिहास का छोड़ा हुआ एक विवाद है."

वीडियो: अनुच्छेद 370 हटाए जाने को एक साल पूरे होने पर केंद्र शासित प्रदेश कश्मीर में कर्फ्यू

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com