आयकर विभाग ने महाराष्ट्र के शहरी ऋण सहकारी बैंक में जमा 53 करोड़ रुपये के लेन-देन पर लगायी रोक

आयकर विभाग ( Income tax department) ने महाराष्ट्र के एक शहरी ऋण सहकारी बैंक में जमा 53 करोड़ से अधिक रुपये के लेन-देन पर रोक लगा दी है. विभाग ने यह कदम हाल में मारे गए छापों के दौरान खाते खोलने में घोर अनियमितता की बात सामने आने पर उठाया है.

आयकर विभाग ने महाराष्ट्र के शहरी ऋण सहकारी बैंक में जमा 53 करोड़ रुपये के लेन-देन पर लगायी रोक

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

आयकर विभाग ( Income tax department) ने महाराष्ट्र के एक शहरी ऋण सहकारी बैंक में जमा 53 करोड़ से अधिक रुपये के लेन-देन पर रोक लगा दी है. विभाग ने यह कदम हाल में मारे गए छापों के दौरान खाते खोलने में घोर अनियमितता की बात सामने आने पर उठाया है. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने शनिवार को यह जानकारी दी. इसने बताया कि विभाग ने बैंक के मुख्यालयों, इसके अध्यक्ष तथा निदेशक के आवास पर 27 अक्टूबर को छापा मारा था.

आधिकारिक बयान में हालांकि यह जानकारी नहीं दी गई कि किस संस्थान पर छापा मारा गया, लेकिन सूत्रों ने उसकी पहचान ‘बुल्ढ़ाणा अरबन कोऑपरेटिव क्रेडिट बैंक' के तौर पर की है. बयान में कहा गया, ‘कोर बैंकिंग सोल्यूशन्स (सीबीएस) पर बैंक आंकड़ों के विश्लेषण और छापे के दौरान अहम लोगों के बयानों से पता चला है कि बैंक खाते खोलने में घोर अनियमितताएं बरती गईं.' 

आयकर विभाग ने कर्नाटक में एक बड़े समूह के खिलाफ चलाया तलाशी अभियान, कई साक्ष्य बरामद

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सीबीडीटी ने बयान में कहा, ‘1,200 से अधिक बैंक खाते इस शाखा में बिना पैन कार्ड के खोले गए. इनमें एक साथ खोले गए सात सौ से अधिक ऐसे खातों की पहचान की गई, जिनमें 34.10 करोड़ से अधिक नकदी खाते खुलने के सात दिनों के भीतर जमा की गई, खासतौर पर अगस्त 2020 से मई 2021 के बीच.'बयान में कहा गया कि अध्यक्ष, सीएमडी तथा शाखा प्रबंधक नकदी जमा के स्रोतों के बारे में जानकारी नहीं दे सके और उन्होंने स्वीकार किया कि यह बैंक के एक निदेशक के कहने पर किया गया, जो एक नामी स्थानीय कारोबारी है. एकत्रित साक्ष्यों और दर्ज बयानों के आधार पर 53.72 करोड़ की पूरी राशि के लेनदेन पर रोक लगा दी गई है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)