भारत में महज 14 दिन में कोरोना से 50 हजार मौतें हुईं, 46 दिनों में एक लाख से ज्यादा मरीजों ने दम तोड़ा

विशेषज्ञों का कहना है कि मई में मौतों की यही रफ्तार रही तो एक माह में एक लाख मौतों का आंकड़ा भी भारत पार कर सकता है. भारत में कोरोना का पहला केस जहां 30 जनवरी 2020 को हुई थी

भारत में महज 14 दिन में कोरोना से 50 हजार मौतें हुईं, 46 दिनों में एक लाख से ज्यादा मरीजों ने दम तोड़ा

Coronavirus Deaths India May :

नई दिल्ली:

Coronavirus Total Deaths India : भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus Deaths India) के रिकॉर्ड टूटते मामलों के बीच महामारी मई के पहले दो हफ्तों में सबसे जानलेवा साबित हुई है.  भारत में मई के 14 दिनों कोरोना से रिकॉर्ड 50 हजार 127 मौतें हुई हैं. यह दुनिया के किसी भी देश में कोरोना का सबसे जानलेवा दौर है. विशेषज्ञों का कहना है कि अगर मई में मौतों की यही रफ्तार रही तो एक माह में एक लाख मौतों का आंकड़ा भी भारत पार कर सकता है. भारत में महज 46 दिनों में एक लाख से ज्यादा मौतें कोरोना से हुई हैं. 


वर्ल्डोमीटर और डब्ल्यूएचओ के आंकड़ों के मुताबिक,भारत में कोरोना का पहला केस (India Corona Cases Today) जहां 30 जनवरी 2020 को सामने आया ता, वहीं मौत का पहला मामला 12 मार्च 2020 को आया था. भारत में कोरोना से मौत का आंकड़ा 50 हजार के पार 16 अगस्त को गया था.यानी करीब साढ़े 5 माह (165 दिन) में कोरोना संक्रमितों की मौतों की संख्या 50 हजार के पार गई थी. जबकि कोरोना की पहली लहर जोर पकड़ने के दौरान अगस्त से अक्तूबर के बीच करीब 50 हजार मौतें हुईं और मौत का आंकड़ा 2 अक्तूबर 2020 को एक लाख के पार कर गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस साल 5 जनवरी 2021 को कोरोना से हुईं मौतें डेढ़ लाख से ज्यादा हो गईं. जबकि कोरोना की पहली लहर कमजोर पड़ने से डेढ़ से दो लाख तक मृतकों की तादाद पहुंचने में करीब 4 महीने लगे. लेकिन दूसरी लहर ने जो कहर बरपाया है कि महज 46 दिनों में ही करीब एक लाख मौतें हो चुकी हैं.