बंगाल हिंसा : गृह मंत्रालय ने भेजा दूसरा पत्र, राज्य सरकार को दी सख्त कार्रवाई की चेतावनी

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बंगाल सरकार (West Bengal Violence) को हिंसा के बाबत दूसरा पत्र लिखा है. गृह मंत्रालय ने पूछा कि पिछले महीने हुए चुनावों के बाद हिंसा रोकने के उपायों के बारे में जवाब क्यों नहीं दिया गया.

खास बातें

  • TMC को मिला भारी बहुमत
  • नतीजों के बाद हुई थी हिंसा
  • गृह मंत्रालय ने भेजा दूसरा पत्र
नई दिल्ली:

तृणमूल कांग्रेस (TMC) पार्टी की प्रमुख ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने बुधवार को लगातार तीसरी बार पश्चिम बंगाल (West Bengal CM) के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. TMC ने भारी बहुमत से चुनाव जीता और एक बार फिर पार्टी सत्ता पर काबिज हुई. दीदी के शपथ वाले दिन केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार को हिंसा के बाबत दूसरा पत्र लिखा. गृह मंत्रालय ने पूछा कि पिछले महीने हुए चुनावों के बाद हिंसा रोकने के उपायों के बारे में जवाब क्यों नहीं दिया गया.

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने अपने दूसरे पत्र में लिखा, 'मैं आपको याद दिलाता हूं कि मतदान के बाद 3 मई को हुई हिंसा के बारे में जानकारी मांगने के बावजूद कोई रिपोर्ट नहीं दी गई है. इस दूसरे पत्र का गैर-अनुपालन गंभीरता से लिया जाएगा.' गृह सचिव ने राज्य सरकार को दो दिन पहले अपना पहला पत्र लिखा था.

शपथ लेते ही ममता बनर्जी ने बंगाल में कोविड पर कंट्रोल के लिए लगाई पाबंदियां, पढ़ें अहम बातें

अजय भल्ला ने राज्य सरकार से पूछा कि हिंसा को रोकने के लिए पर्याप्त उपाय क्यों नहीं किए गए. उन्होंने लिखा कि ताजा रिपोर्ट है कि राज्य में चुनाव के बाद हिंसा नहीं थमी है. हिंसा को रोकने के लिए तत्काल उपाय किए जाएं और उसी के संबंध में रिपोर्ट तुरंत भेजी जाए.

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने भी बंगाल में हुई हिंसा का संज्ञान लिया है. आयोग ने डिप्टी आईजी (अन्वेषण) को एक टीम बनाने के लिए कहा है, जो इस मामले की जांच करेगी. आयोग ने टीम को जांच रिपोर्ट सौंपने के लिए दो हफ्ते का समय दिया है.

बंगाल हिंसा पर आया ओवैसी का बयान, बोले- लोगों की जान बचाना सरकार का पहला कर्तव्य

कई अन्य मानवाधिकार संस्थाओं ने भी बंगाल हिंसा पर चिंता जताई है और जांच की मांग की है. BJP और लेफ्ट ने TMC पर गुंडागर्दी का आरोप लगाया है. उनका आरोप है कि चुनाव जीतने के बाद TMC कार्यकर्ताओं ने जश्न के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमला किया.

TMC और बंगाल पुलिस ने उनके आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो और तस्वीरें पुरानी घटनाओं की हैं. मंगलवार को BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने बंगाल का दौरा किया और पीड़ित परिवारों को न्याय का भरोसा दिलाया. उन्होंने कहा, 'ममता जी आपकी पार्टी ने जीत के बाद जो कुछ भी किया, यह ये दिखाता है कि आपके पार्टी कार्यकर्ता लोकतंत्र में कितना विश्वास रखते हैं. आपके नेता कह रहे हैं कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो क्लिप फर्जी हैं. मैं मीडिया से आग्रह करूंगा कि वे देश को सच बताएं.'


TMC नेताओं ने BJP के आरोपों पर कहा है कि उनका इस तरह की घटनाओं से कोई लेनादेना नहीं है. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से राज्य में शांति बनाए रखने की अपील की और कहा कि वे लोग कोविड नियमों का पालन करें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: नरेंद्र मोदी और अमित शाह युग की राजनीति का अंत होगा : ममता बनर्जी