उत्‍तर भारत में तेज बारिश ने राहत के साथ मुश्किलें भी बढ़ाईं, हिमाचल में सड़क पर मलबा आने से हाईवे 'जाम'

हिमाचल और जम्‍मू-कश्‍मीर में भी भारी बारिश ने समस्‍याएं खड़ी कर दी है. यहां के कई मार्गों पर बारिश के कारण सड़कों पर मलबा जमा हो गया है.

उत्‍तर भारत में तेज बारिश ने राहत के साथ मुश्किलें भी बढ़ाईं, हिमाचल में सड़क पर मलबा आने से हाईवे 'जाम'

खास बातें

  • यूपी, राजस्‍थान में आकाशीय बिजली ने कहर बरपाया
  • लेकिन बारिश के लिए दिल्‍ली का इंतजार अभी है जारी
  • हिमाचल, जम्‍मू-कश्‍मीर के अलावा उत्‍तराखंड में भी हुई बारिश
नई दिल्ली:

Heavy Rain : देश खासकर उत्‍तर भारत में हुई जोरदार बारिश (Heavy Rain In north India) ने राहत के साथ समस्‍याएं भी बढ़ाई हैं. बारिश ने कुछ राज्‍यों में जनजीवन अस्‍तव्‍यस्‍त कर दिया है. यूपी और राजस्‍थान में तो आकाशीय बिजली गिरने से 40 से अधिक लोगों को जान गंवानी पड़ी है. हिमाचल (Himachal) और जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu and Kashmir) में भी बारिश ने समस्‍याएं खड़ी कर दी है. यहां के कई मार्गों पर बारिश के कारण सड़कों पर मलबा जमा हो गया है. हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के चलते शिमला के पास रामपुर एरिया में झाकरी के नजदीक नेशनल हाईवे ब्‍लॉक हो गया है, सड़क पर पहाड़ का मलबा आ गया है जिसके कारण रास्‍ता बंद करना पड़ा है. रोड जाम होने से पर वाहनों की लंबी कतार लग गई है. उधर, कश्‍मीर में भारी बारिश के कारण गांदरबल जिले के वाटलर एरिया में सामान्‍य जीवन प्रभावित हुआ है. जम्‍मू में माता वैष्‍णादेवी स्‍थल और कटरा में भी बारिश हुई है.

आकाशीय बिजली से बचने को 30-30 का फार्मूला अपनाएं ,जानिए क्या करें औऱ क्या न करें

उत्तर भारत में रविवार को कई स्थानों पर बारिश हुई लेकिन देश की राजधानी दिल्ली में मानसून का इंतजार जारी रहा. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने उत्तर भारत के कई स्थानों पर सोमवार को तेज बारिश होने की संभावना जताई है. पहाड़ी प्रदेश, उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन के चलते एक गांव में मकान ढह जाने से आठ वर्षीय बच्चे समेत तीन लोगों की मौत हो गई.


यूपी में आकाशीय बिजली गिरने से 40 की मौत, राजस्थान में सेल्फी ले रहे लोगों पर बिजली का कहर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दक्षिण भारत के केरल में दक्षिण पश्चिम मानसून के सक्रिय होने से रविवार को भी राज्य के कई हिस्सों में लगातार बारिश हुई. मौसम विभाग ने पांच उत्तरी जिलों के लिए ‘ऑरेंज अलर्ट' जारी किया है. आईएमडी ने केरल और गुजरात के मछुआरों के लिए मौसम संबंधी चेतावनी जारी करते हुए उन्हें अगले दो दिनों तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गयी है। आईएमडी ने कहा कि दक्षिण पश्चिम मॉनसून को दिल्ली सहित उत्तर भारत में 10 जुलाई तक दस्तक देना था, लेकिन रविवार शाम तक ऐसा नहीं हुआ। आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि दिल्ली के ऊपर मॉनसून के सक्रिय होने की अनुकूल परिस्थितियां हैं, क्योंकि पूर्वी हवाओं की वजह से हवा में आर्द्रता बढ़ गई है. उन्होंने कहा कि निम्न दबाव का क्षेत्र बनने से भी मॉनसून को गति मिलेगी. आईएमडी के ताजा वक्तव्य के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के कुछ और हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल बनी हुई हैं.(भाषा से भी इनपुट)