'मीडिया चला जाएगा हम यहीं रहेंगे': हाथरस पीड़िता के परिवार ने लगाया अधिकारी पर धमकाने का आरोप

युवती के परिवार ने आरोप लगाया है कि एक वरिष्‍ठ अधिकारी उन्‍हें धमका रहे हैं और दबाव बना रहे हैं. यह अधिकारी आज ही परिवार से 'मिलने' पहुंचा था.

खास बातें

  • परिवार ने आरोप लगाया, एक अधिकारी हम पर बना रहे दबाव
  • डीएम ने युवती के परिजनों को आरोपों का खंडन किया
  • डीएम का युवती के परिवार से बात करने का वीडियो सामने आया

Hathras Case: उत्‍तर प्रदेश के हाथरस (Uttar Pradesh's Hathras) की युवती की गैंगरेप और टार्चर के बाद मौत की घटना को लेकर पूरा देश आक्रोश में है. इस बीच, युवती के परिवार ने आरोप लगाया है कि एक वरिष्‍ठ अधिकारी उन्‍हें धमका रहे हैं और दबाव बना रहे हैं. यह अधिकारी आज ही परिवार से 'मिलने' पहुंचा था. हाथरस के डिस्ट्रिक्‍ट मजिस्‍ट्रेट (DM) का युवती के परिवार से बात करने का वीडियो आज सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है.

'हाथरस मामले में नहीं हुआ रेप', फोरेंसिक रिपोर्ट के आधार पर यूपी के पुलिस अफसर का दावा

मोबाइल पर शूट किए गए इस वीडियो में डीएम प्रवीण कुमार लक्षकार को यह कहते हुए सुना जा सकता है, 'अपनी विश्‍वसनीयता (credibility) खत्‍म मत करो. मीडिया के यह लोग यहां आज हैं, कल ये चले जाएंगे. केवल हम यहां रह जाएंगे. यह तुम पर है कि बयान बदलो या नहीं. हम भी बदल सकते हैं.' सामने आए एक अन्‍य वीडियो में एक महिला (माना जा रहा है कि यह पीड़िता की रिश्‍तेदार है) कैमरे की ओर देखकर रोने लगती है. गोद में बच्‍चे को लिए हुए यह महिला कहती हैं, 'वे हम पर दबाव डाल रहे हैं. वे कह रहे हैं कि यदि हमारी बेटी कोरोना वायरस से मर जाती तो उसे मुआवजा मिलता. हमें धमकियां मिली रही हैं, हमारे पिता को धमकियां मिल रही है.' उसने कहा, 'वे कह रहे हैं कि जब वे यह वीडियो दिखाएंगे तो यह केस बंद हो जाएगा. उन्‍होंने मां का वीडियो बना लिया है, उस समय वह अपने दिली भावना के आधार पर बात कर रही थी. वे हमें यहां नहीं रहने देंगे, डीएम हमारे साथ 'खेल' खेल रहे हैं, वे हम पर दबाव बना रहे हैं. वे हम पर दबाव बना रहे हैं और कह रहे हैं कि हमारे बयान भरोसे लायक नहीं हैं.

हालांकि अधिकारी ने परिवार के आरोपों का खंडन किया है. डीएम लक्षकार ने कहा, 'मैं परिवार के लोगों से बुधवार को मिला था और हमारी करीब डेढ़ घंटे बात हुई, मैं आज भी उनसे मिला और उनकी नाखुशी को देखा. मैं उनके साथ हुई बातचीत को लेकर आई अफवाहों का खंडन करता हूं. उनकी मुख्‍य चिंता यह है कि आरोपी को फांसी मिले, मैंने उन्‍हें आश्‍वस्‍त किया और कहा कि मामले को फास्‍ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाएगा.''

हाथरस जाते समय राहुल गांधी को हिरासत में लिया गया, बाद में रिहा किया गया 

गौरतलब है कि 14 सितंबर को गांव के ही उच्च जाति के चार युवकों ने युवती के साथ कथित तौर पर गैंगरेप किया था और उसे गंभीर चोटें पहुंचाई थीं. युवती के शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे और हड्डियां टूटी हुई थीं. उसकी जीभ भी काट दी गई थी. बाद में पीड़िता की मंगलवार को दिल्‍ली के एक अस्‍पताल में मौत हो गई थी और पुलिस ने रात में ही उसका अंतिम संस्‍कार कर दिया. परिवार भी अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सका. 


हाथरस गैंगरेप पर बवाल, SP कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com