सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक लगाई, इस वजह से लिया फैसला

सरकार ने हर किस्म के प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है. प्याज की बढ़ती कीमतों के बीच घरेलू बाजार में इसकी उपलब्धता बढ़ाने के लिए यह कदम उठाया गया है.

सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक लगाई, इस वजह से लिया फैसला

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक लगाई
  • घरेलू बाजार में उपलब्धता बढ़ाने के लिए लिया गया फैसला
  • कई जगह प्याज का खुदरा दाम 60 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंचा
नई दिल्ली:

सरकार ने हर किस्म के प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है. प्याज की बढ़ती कीमतों के बीच घरेलू बाजार में इसकी उपलब्धता बढ़ाने के लिए यह कदम उठाया गया है. वाणिज्य मंत्रालय के तहत आने वाले विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने अधिसूचना में कहा, 'सभी किस्म के प्याज पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है.' डीजीएफटी आयात और निर्यात से संबंधित मुद्दों को देखता है. इससे पहले 13 सितंबर को डीजीएफटी ने प्याज के निर्यात पर अंकुश के लिए 850 डॉलर प्रति टन का न्यूनतम निर्यात मूल्य (एमईपी) तय किया था. 

दिल्ली में कल से केजरीवाल सरकार बेचेगी 23.90 रुपये किलो प्याज, खरीददारी की लिमिट तय

इस कदम का उद्देश्य घरेलू बाजार में प्याज कीमतों पर अंकुश लगाना था. दिल्ली और देश के कुछ अन्य हिस्सों में प्याज का खुदरा दाम 60 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गया है. महाराष्ट्र जैसे प्रमुख प्याज उत्पादक राज्यों में बाढ़ की वजह से इसकी आपूर्ति प्रभावित हुई है.


आदरणीय पासवान जी, अगर इतना पर्याप्त स्टॉक है तो फिर पटना में प्याज़ 80 रुपये किलो क्यों बिक रहा है? बीच में कौन कमीशन खा रहा है : RJD

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस बीच, उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए केंद्र सरकार अपने बफर स्टॉक से 50,000 टन प्याज निकाल रही है. सरकार ने पिछले महीने चेताया था कि प्याज की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)