जीबी पंत इंस्टीट्यूट के नर्सिंग स्टाफ को मलयालम में बातचीत पर चेतावनी, सिर्फ हिंदी-अंग्रेजी इस्तेमाल का निर्देश

दिल्ली के गोविंद बल्लभ पंत इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (GIPMER) में एक शिकायत के बाद अधिकारियों ने नर्सिंग स्टाफ के लिए एक सर्कुलर जारी किया है.

जीबी पंत इंस्टीट्यूट के नर्सिंग स्टाफ को मलयालम में बातचीत पर चेतावनी, सिर्फ हिंदी-अंग्रेजी इस्तेमाल का निर्देश

इंस्टीट्यूट ने सर्कुलर जारी किया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • दिल्ली के जीबी पंत इंस्टीट्यूट का मामला
  • नर्सिंग स्टाफ मलयालम भाषा में कर रहा था बातचीत
  • शिकायत मिलने के बाद जारी हुआ सर्कुलर
नई दिल्ली:

दिल्ली के गोविंद बल्लभ पंत इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (GIPMER) में एक शिकायत के बाद अधिकारियों ने नर्सिंग स्टाफ के लिए एक सर्कुलर जारी किया है. इसके मुताबिक, इंस्टीट्यूट के नर्सिंग स्टाफ को बातचीत के लिए केवल हिंदी और अंग्रेजी भाषा के इस्तेमाल के लिए कहा गया है. ऐसा न करने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात कही गई है.

न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार, GIPMER प्रशासन को इसकी शिकायत मिली थी कि इंस्टीट्यूट का नर्सिंग स्टाफ बातचीत के लिए मलयालम भाषा का इस्तेमाल कर रहा है. अधिकतर मरीज और स्टाफ इस भाषा को नहीं जानते, लिहाजा कई बार उनके लिए स्थिति बहुत असहज हो रही थी.

gnfl624g

शिकायत मिलने के बाद GIPMER के नर्सिंग सुपरिटेंडेंट ने सर्कुलर जारी करते हुए नर्सिंग स्टाफ को कार्यस्थल पर हिंदी या फिर अंग्रेजी भाषा के इस्तेमाल का आदेश दिया. उन्होंने आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात कही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कोविड इलाज से 'प्लाज्मा थेरेपी' हटाने के क्या हैं मायने, क्यों लिया गया फैसला? जानें...



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)