हरिद्वार से हैदराबाद: ₹250/ किलो नींबू, तो ₹80/किलो भिंडी! बढ़ी महंगाई ने किया जीना मुहाल

देशभर में फलों और सब्जियों के दाम आसमान छूने लगे हैं. खासकर हरी सब्जियों के दाम बढ़ते दाम ने हर घर के बजट को बिगाड़ दिया है. कुछ सब्जियों के दाम तो फलों से भी महंगे हो गए हैं. आलम ये है कि एक नींबू 10 रुपये में बिक रहा है.

हरिद्वार से हैदराबाद: ₹250/ किलो नींबू, तो ₹80/किलो भिंडी! बढ़ी महंगाई ने किया जीना मुहाल

महंगाई की मार से त्रस्त हुई जनता

नई दिल्ली:

देशभर में लोग बढ़ती महंगाई की मार झेल रहे हैं. पिछले कुछ दिनों में पेट्रोल और डीज़ल के दाम (Petrol-Diesel Prices) करीब 10 रुपये तक बढ़ चुके हैं. वहीं रसोई गैस सिलेंडर सबके किचन का बजट बिगाड़ ही रहा है. नतीजतन सब्ज़ियों के साथ फलों के दाम (Vegetables Prices) भी बहुत बढ़ चुके हैं. उत्तराखंड के हरिद्वार में ईंधन के दाम बढ़ने से सब्जियां और फल काफी ऊंचे दाम पर बेची जा रही है.

एक सब्जी विक्रेता ने कहा, ''लगभग सभी सब्जियों के दाम बढ़ गए हैं, अब तो नींबू 200-250 रुपये प्रति किलो बिक रहा है और लौकी 30-35 रुपये प्रति किलो के भाव बिक रही है.'' गर्मी का मौसम आने के साथ ही पिछले एक हफ्ते में नींबू के दाम आसमान छू रहे हैं और हैदराबाद शहर में एक नींबू 10 रुपये में बिक रहा है.

वेंडर्स ने नींबू की बढ़ती कीमत पर चिंता जताते हुए कहा कि उपभोक्ता इतने ऊंचे दाम पर नींबू खरीदने को तैयार नहीं हैं. सड़क किनारे सब्जी बेचने वाले वेंकटेश ने बताया. "कीमतें वास्तव में बहुत अधिक हो गई हैं. पहले, हम 700 रुपये में एक पूरी नींबू की बोरी खरीदते थे, जिसकी कीमत अब 3,500 रुपये है. हम एक नींबू को 10 रुपये में बेच रहे हैं और कोई इसे खरीदने के लिए तैयार नहीं है. लोग नींबू खरीदे बिना जा रहे हैं," 

एक अन्य महिला रिटेलर लक्ष्मी ने कहा कि वह वर्तमान में 3,000 रुपये में नींबू का एक पूरा बैग खरीद रही हैं. "मैंने पूरा बैग 3,000 रुपये में खरीदा है और एक दर्जन को 120 रुपये में बेच दिया है, लेकिन कोई भी खरीदने को तैयार नहीं है. हरे नींबू दो दिन बाद भी बेचे जा सकते हैं लेकिन पीले वाले को तुरंत बेचा जाना चाहिए क्योंकि वे जल्द ही सड़ जाते हैं. कोई इतनी अधिक कीमत पर नींबू नहीं खरीद रहा है," 

ये भी पढ़ें: तेल के साथ ही सब्जियां भी महंगी, आसमान को छूती नींबू-मिर्च की कीमत

एक ग्राहक तरन्नुम ने कहा, "कीमतें बहुत अधिक हैं. ऐसे में मैंने 120 रुपये में एक दर्जन नींबू खरीदे. पहले, मैं उन्हें 20 रुपये में खरीदती थी, गर्मी के मौसम के कारण कीमतें बढ़ रही हैं." नींबू के अलावा दूसरी सब्जियों पर भी तेल की बढ़ती कीमत और बदलते मौसम की मार पड़ी है. मिर्च 15 दिन पहले 100 से 120 रुपए किग्रा था, जो अब 50 से 60 रुपए किग्रा है. इसके अलावा, सीताफल पहले 30-40 रुपए किग्रा था, अब 50 से 50 रुपए किग्रा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल सस्ता, क्या आम लोगों तक पहुंचेगी राहत?