पूर्व केंद्रीय मंत्री बच्ची सिंह रावत का कोरोना से निधन,बीजेपी संस्थापक कुशाभाऊ ठाकरे के रिश्तेदार ने भी दम तोड़ा

एम्स ऋषिकेश के एक अधिकारी ने बताया कि रावत (71) को हल्द्वानी से एयर एम्बुलेंस में लाया गया और अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में भर्ती कराया गया जहां चिकित्सा विशेषज्ञ उनकी देखरेख कर रहे थे.

पूर्व केंद्रीय मंत्री बच्ची सिंह रावत का कोरोना से निधन,बीजेपी संस्थापक कुशाभाऊ ठाकरे के रिश्तेदार ने भी दम तोड़ा

उत्तराखंड में भी कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं (प्रतीकात्मक)

नई दिल्ली:

कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में कई बड़ी राजनीतिक हस्तियां भी आ गई हैं. पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता बच्ची सिंह रावत (Former Union Minister Bachhi Singh Rawat ) का कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के चलते निधन हो गया है. उत्तराखंड के  मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने इसकी जानकारी दी है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री बच्ची सिंह रावत को शनिवार को यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया. रावत ने सांस लेने में दिक्कत होने की शिकायत की थी.

एम्स ऋषिकेश के एक अधिकारी ने बताया कि रावत (71) को हल्द्वानी से एयर एम्बुलेंस में लाया गया और अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में भर्ती कराया गया जहां चिकित्सा विशेषज्ञ उनकी देखरेख कर रहे थे.रावत की प्रारंभिक जांच की गई जिससे पता चला कि वह फेफड़े के संक्रमण से पीड़ित हैं.चार बार के सांसद रावत केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री भी रहे.


वहीं बीजेपी के संस्थापक सदस्यों में से एक पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष कुशाभाऊ ठाकरे के भतीजे ने रविवार को इंदौर में दम तोड़ दिया.58 साल के शिरीष ठाकरे कोरोना संक्रमित थे.वह तीन दिन से इंदौर के सरकारी अस्पताल एम टी एच में भर्ती थे.परिवार वालों का कहना है कि अस्पताल में शिरीष का सही इलाज नही किया गया।जिसके चलते उनकी जान गई.शिरीष का 28 साल का बेटा उसी अस्पताल में जिंदगी और मौत से संघर्ष कर रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बच्ची सिंह के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया. रावत ने कहा, प्रभु दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें तथा शोकाकुल परिजनों को धैर्य और दुख सहने की शक्ति प्रदान करें.बच्ची सिंह रावत अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ क्षेत्र से चार बार सांसद रहे थे और लगातार तीन बार उन्होंने कांग्रेस के दिग्गज नेता तथा पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को चुनाव में पटखनी दी थी. वरिष्ठ बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी के करीबी माने जाने वाले रावत अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में विज्ञान और प्रोद्यौगिकी राज्य मंत्री रहे थे.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)