सोनिया गांधी की टिप्पणी पर भड़कीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, कई राजनीतिक दलों पर साधा निशाना

भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर संशोधित नागरिकता कानून को लेकर लोगों को ''भ्रमित'' करने और NRC के साथ इसकी ''गलत तरीके से'' तुलना करने का आरोप लगाते हुए उनकी आलोचना की.

सोनिया गांधी की टिप्पणी पर भड़कीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, कई राजनीतिक दलों पर साधा निशाना

सीतारमण ने कहा, मैं अपील करती हूं कि वे इस भ्रम और डर की स्थिति में नहीं पड़ें

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर संशोधित नागरिकता कानून को लेकर लोगों को ''भ्रमित'' करने और NRC के साथ इसकी ''गलत तरीके से'' तुलना करने का आरोप लगाते हुए उनकी आलोचना की. भारतीय जनता पार्टी की ओर से जारी बयान में सीतारमण ने प्रदर्शनकारियों से इस कानून को पढ़ने और जरूरत पर स्पष्टीकरण मांगने के लिए कहा. उन्होंने प्रदर्शनकारियों से यह भी कहा कि वह ऐसी ताकतों से बचें जो उन्हें ''भ्रमित'' कर रहे हैं और देश के नागरिकों के बीच ''हिंसा और डर फैला रहे हैं.'' 

मोदी सरकार और संघ परिवार आमने-सामने! बजट से पहले BMS ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को दी चेतावनी

सीतारमण ने कहा, ''मैं भारत के सभी नागरिकों से अपील करती हूं कि वे इस भ्रम और डर की स्थिति में नहीं पड़ें. कांग्रेस और तृणमूल और आप जैसी पार्टियां और वाम दल संशोधित नागरिकता कानून एवं NRC को आपस में जोड़ कर डर पैदा कर रहे हैं, जबकि एनआरसी अबतक तैयार भी नहीं हुआ है.'' उन्होंने कहा, ''मैं देश के प्रत्येक नागरिक से अपील करती हूं कि हताश हो चुकी कांग्रेस, तृकां, आप और वाम दल जो कर रहे हैं उससे वह प्रभावित नहीं हो.'' 


अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए कुछ कदम उठाए, जिसके नतीजे भी दिखने शुरू हो गए: निर्मला सीतारमण

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भाजपा नेता ने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून किसी भी भारतीय की नागरिकता छीनने के लिए नहीं है. उन्होंने जोर देकर कहा कि इस कानून का किसी भारतीय नागरिक से कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने कहा, ''यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी संशोधित नागरिकता कानून को लेकर देश के लोगों को भ्रमित कर रही हैं और गलत तरीके से इसे NRC से जोड़ रही हैं जबकि एनआरसी अबतक तैयार भी नहीं किया गया है.''