पहले ''हाथी'' का पेट इतना बड़ा था कि पता नहीं लगता था कि राशन कहां गया : योगी

मुख्‍यमंत्री ने सोमवार को गाजीपुर जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर सैदपुर के टाउन नेशनल इंटर कॉलेज में कई योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया.

पहले ''हाथी'' का पेट इतना बड़ा था कि पता नहीं लगता था कि राशन कहां गया : योगी

जौनपुर/गाजीपुर:

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) ने ''अब्बाजान'' कहने वालों पर राशन हड़पने का आरोप लगाने के बाद सोमवार को कहा कि ''क्या सपा सरकार में आपको राशन मिलता था, सपा सरकार से पहले बहन जी (मायावती) की सरकार में तो हाथी का पेट इतना बड़ा था कि पता ही नहीं लगता था कि जनता का राशन कहां जा रहा है.'' जौनपुर में मुख्‍यमंत्री ने करोड़ों रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करने के बाद मुंगराबादशाहपुर में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि ''क्या सपा सरकार में आपको राशन मिलता था, सपा सरकार से पहले बहन जी (मायावती) की सरकार में तो हाथी का पेट इतना बड़ा था कि पता ही नहीं लगता था कि जनता का राशन कहां जा रहा है.''

यूपी : योगी सरकार के साढ़े चार साल पूरे, रामलला के दरबार पहुंचे CM

गौरतलब है कि योगी ने गत 12 सितंबर को कुशीनगर की एक जनसभा में योगी ने कहा था, ''अब्बा जान कहने वाले गरीबों की नौकरी पर डकैती डाल देते थे. पूरा परिवार झोला लेकर वसूली के लिए निकल पड़ता था, अब्बाजान कहने वाले राशन हजम कर जाते थे और राशन नेपाल व बांग्लादेश पहुंच जाता था लेकिन आज जो गरीबों का राशन निगलेगा वह जेल चला जाएगा.'' योगी के इस बयान के बाद विपक्ष ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी.  भाजपा के आधिकारिक ट्विटर हैंडल के अनुसार जौनपुर की सभा में योगी ने कहा, ''पहले तो न दुर्गा पूजा होती थी, न रामलीला का आयोजन होने दिया जाता था, न यज्ञ होने दिया जाता था और ऐसा लगता था कि मारीच (मारीच लंकापति रावण का रिश्तेदार था और भेष बदलने में माहिर था) और सुबाहु (मारीच का भाई) इन्हीं (विपक्षी दलों) के यहां पैदा हो गए हैं.''

उन्होंने कहा, ''पहले कोरोना नहीं था तो भी सरकारें यज्ञ और दुर्गा पूजा नहीं होने देती थीं, लेकिन इस बार दुर्गा पूजा की अनुमति दी जाएगी.'' योगी ने कहा, ''अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का कार्य क्या सपा करती, क्या बसपा करती, क्या आप कांग्रेस से उम्मीद करते हैं.'' उन्होंने कहा, ''पहले मुख्‍यमंत्री होते ही मैं और मेरा खानदान, उससे बाहर कोई नहीं निकलता था, जब प्रदेश के लोग गंभीर बीमारियों की चपेट में होते थे, तब सैफई का परिवार सैफई में बड़ी-बड़ी हस्तियों को बुलाकर नाच-गाने का कार्यक्रम करता था, तब प्रदेश की जनता दिखाई नहीं देती थी.'' योगी ने कहा, ''देश महत्वपूर्ण होता है और उसकी सुरक्षा अधिक महत्वपूर्ण है, ध्यान रखिए कांग्रेस के लोग भी आपके पास आएंगे और बड़ी-बड़ी घोषणाएं करेंगे, लेकिन याद रखिए चीन जब देश के अंदर घुसपैठ करता था तो यही लोग कहते थे कि चुप हो जाओ, चीन के खिलाफ कुछ बोलना मत.''

मुख्यमंत्री ने कहा, ''पहले सड़कें नहीं बनती थीं, जहां से गड्ढे शुरू हो जाएं, पता लगता था कि यूपी आ गया, जहां से अंधेरा प्रारंभ होता था, वहां से समझा जाता था कि यूपी आ गया, जहां बेटियों की इज्जत तार-तार होती थी, समझा जाता था कि यूपी आ गया और पहले जहां बड़े-बड़े दंगे होते थे, वो यूपी था.'' योगी ने कहा, ‘‘हमारी सरकार में साढ़े चार वर्ष में एक भी दंगा नहीं हुआ और हर क्षेत्र में विकास हुआ है.'' इससे पहले गाजीपुर की सभा में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार गुंडों और माफियाओं से अच्छी तरह निपटना जानती है  और भाजपा के शासन में उनपर बुलडोजर चल रहा है.


CM योगी के पिता पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर सपा एमएलसी और एक अन्‍य नेता पर मामला दर्ज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मुख्‍यमंत्री ने सोमवार को गाजीपुर जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर सैदपुर के टाउन नेशनल इंटर कॉलेज में कई योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया. उन्होंने कहा, ‘‘पिछली सरकारों में गुंडों, माफियाओं को सरकारी संरक्षण मिलता था लेकिन अब उत्तर प्रदेश से माफियाओं का सफाया किया जा रहा है. भाजपा ने सभी क्षेत्रों में व्यापक परिवर्तन करके दिखाया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पूरे देश में विकास हो रहा है.'' योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने बिना किसी की जाति पूछे लाखों युवाओं को रोजगार दिया है, युवाओं को नई पहचान दी है और युवा गर्व से कह सकते हैं कि वे उत्तर प्रदेश के हैं. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने जाति, क्षेत्र, चेहरा नहीं देखा और इस सरकार में सभी वर्गों एवं समाज का विकास किया गया. मुख्यमंत्री ने योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान किए. उन्होंने कहा कि अब गाजीपुर में मेडिकल कॉलेज का नाम महर्षि विश्वामित्र के नाम पर होगा.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)