दीवाली के तीन बाद भी 'गंभीर' श्रेणी में दिल्ली की वायु गुणवत्ता, गहरी धुंध के बीच AQI 436

केंद्र द्वारा संचालित SAFAR के अनुसार, दिल्ली का AQI 'बहुत खराब' श्रेणी के स्तर से सुधरने की संभावना है क्योंकि सतह पर हवाएं तेज होती जा रही हैं. सफर ने अनुमान जताया है कि तेज हवाओं की वजह से आज शाम से वायु प्रदूषकों में कमी आ सकती है.

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) रविवार को भी 'गंभीर' श्रेणी में बना हुआ है. सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) ने इसकी सूचना दी है. उसके मुताबिक,आज सुबह 6:15 बजे  दिल्ली की समग्र वायु गुणवत्ता 436 एक्यूआई के साथ 'गंभीर' श्रेणी में पाई गई.

हालांकि, शनिवार की रात दिल्ली का एक्यूआई 437 था, जिसमें पीएम 2.5 का स्तर 318 था, जबकि पीएम 10 का 448 था. केंद्र द्वारा संचालित SAFAR के अनुसार, दिल्ली का AQI 'बहुत खराब' श्रेणी के स्तर से सुधरने की संभावना है क्योंकि सतह पर हवाएं तेज होती जा रही हैं. सफर ने अनुमान जताया है कि तेज हवाओं की वजह से आज शाम से वायु प्रदूषकों में कमी आ सकती है.

यमुना में अमोनिया का स्तर बढ़ा, दिल्ली के कई इलाकों में आज पानी की सप्लाई हो सकती है बाधित

ताजनगरी आगरा में भी शनिवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक 380 रहा. दिवाली के बाद वहां भी सांस संबंधी परेशानियां झेलने वाले लोगों की संख्या बढ़ गयी है. यह शहर 4 नवंबर को दीवाली के बाद से कोहरे में लिपटा है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार शाम चार बजे वहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 380 रहा.

दिल्ली में 36 प्रतिशत प्रदूषण का कारण बनी पराली, इस मौसम में तोड़े अब तक के रिकॉर्ड


बता दें कि 0-50 के बीच एक्यूआई अच्छा माना जाता है, 51-100 संतोषजनक, 101-200 मध्यम, 201-300 खराब, 301-400 बहुत खराब और 401-500 को गंभीर/खतरनाक के रूप में चिह्नित किया जाता है.

वीडियो: दिल्ली में दीवाली के दो दिन बाद भी प्रदूषण खतरनाक स्तर पर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com