केजरीवाल सरकार ने न्यूज़ चैनलों के कंटेंट की निगरानी करने का फैसला किया

केजरीवाल सरकार ने न्यूज़ चैनलों के कंटेंट की निगरानी करने का फैसला किया

नई दिल्ली:

मीडिया पर 'आप को खत्म करने के षड्यंत्र' का हिस्सा होने का आरोप लगाने के बाद केजरीवाल नीत दिल्ली सरकार ने सभी खबरिया चैनलों पर नजर रखने का निर्णय किया है और अपने अधिकारियों से कहा है कि मीडिया की विषय वस्तु की निगरानी करें।

इस सिलसिले में सूचना एवं विज्ञापन निदेशालय (डीआईपी) को सुबह 9 बजे से रात 11 बजे तक खबरिया चैनलों की निगरानी करने के निर्देश जारी किए गए हैं।

दिल्ली सरकार पहली बार ऐसा कर रही है। डीआईपी के अधिकारी अभी तक सरकार से संबंधित खबरों की कतरन को अखबारों से काटकर रिकॉर्ड में रखते थे।

सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘डीआईपी अधिकारियों से कहा गया है कि खबरिया चैनलों पर सरकार से संबंधित खबरों की निगरानी रखें और इन विषय वस्तु की रोजना रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजी जाए।’’

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने हाल में एक वेबसाइट को दिए साक्षात्कार में कहा था, ‘‘मीडिया के एक बड़े धड़े ने आप को खत्म करने की ‘सुपारी’ ले रखी है.. जन सुनवाई हो सकती है। इस तरह से हम ‘जनता की सुनवाई’ शुरू कर सकते हैं।’’

सूत्रों ने बताया, ‘‘डीआईपी अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि सुबह 9 बजे से रात 11 बजे तक खबरिया चैनलों की विषय वस्तु की निगरानी करें। अधिकारियों से कहा गया है कि इस काम को कम से कम एक महीने तक करें और उसके बाद सरकार निविदा जारी कर सभी खबरिया चैनलों पर नजर रखने के लिए विशिष्ट कर्मचारियों की नियुक्ति करेगी।’’

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने आज कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनावों में शानदार बहुमत मिलने के बाद मीडिया का एक धड़ा आप को ‘‘बदनाम’’ करने के लिए लगातार अभियान चला रहा है और आप, सरकार से जुड़े मुद्दों को छोड़कर दूसरे मुद्दों पर चुप्पी बनाए हुए है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बहरहाल उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आज एक कार्यक्रम में कहा कि पूरे मीडिया को ‘विपश्यना’ करने की जरूरत है। उनसे दिल्ली डायलॉग कमीशन (डीडीसी) के पूर्व सदस्य सचिव आशीष जोशी की टिप्पणी के बारे में पूछा गया था जिसमें जोशी ने कहा था कि ‘‘दिल्ली सरकार में हर किसी को ‘विपश्यना’ और ‘अनापना’ प्रशिक्षण लेने की तुरंत जरूरत है।’’