दिल्ली : बिजनेस पार्टनर को गोली मारकर घायल किया ,फिर सरेंडर किया

दिल्ली के अमन विहार इलाके में एक शख्स ने अपने कारोबारी साथी को गोली मारकर घायल कर दिया और फिर थाने में जाकर सरेंडर कर दिया.

दिल्ली : बिजनेस पार्टनर को गोली मारकर घायल किया ,फिर सरेंडर किया

Delhi Crime News : पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है

नई दिल्ली:

दिल्ली के अमन विहार इलाके में एक शख्स ने अपने कारोबारी साथी को गोली मारकर घायल कर दिया और फिर थाने में जाकर सरेंडर कर दिया.रोहिणी के डीसीपी प्रणव तायल के मुताबिक 20 अगस्त को रात करीब 11:30 बजे अमन विहार थाने में 36 साल का मनीष कुमार नाम का शख्स आया. उसने बताया कि उसने सुल्तानपुरी के रहने वाले 35 साल के भरत लाल साहू को गोली मार दी है. मनीष के हाथ में एक पिस्टल थी और उसके कपड़े खून से सने थे. इसके बाद पुलिस थाने में 2 पीसीआर कॉल आयी. इसमें  एक शख्स ने  कहा था कि उसके भाई को सुल्तानपुरी में हनुमान मंदिर पार्किंग के पास गोली मार दी गई थी, जो वर्तमान में अग्रसेन अस्पताल में भर्ती है.

इसके बाद पुलिस अस्पताल पहुंची और घायल भरत लाल साहू को घायल हालत में पाया. उसके गाल के पास गोली लगी थी. हालांकि, इलाज करने वाले डॉक्टर द्वारा मरीज को "बयान के लिए फिट" घोषित किया गया था. उसने आरोप लगाया कि वह हनुमान मंदिर , सुल्तानपुरी के पास पार्किंग में अपनी कार पार्क करते थे. घटना से पहले  पार्किंग एरिया के केयर टेकर सलमान ने पीड़ित को एक रिजवान के मोबाइल के जरिए फोन किया और कहा कि जल्दी आओ क्योंकि सलमान पार्किंग को जल्दी बंद करना चाहते थे.


इसके बाद रात 9 बजकर 40 मिनट पर पीड़ित पार्किंग एरिया पहुँचा, इसी बीच किसी ने उसे पीछे से गोली मार दी. उसने तुरंत पीछे मुड़कर देखा तो उसने मनीष कुमार हाथ में देसी पिस्टल लिए हुए था. इसके बाद पीड़ित भरत लाल साहू ने वहां से भागने की कोशिश की. लेकिन सलमान ने उसे पकड़ लिया. हालांकि, वह किसी तरह अपने चंगुल से छूटने में कामयाब रहा और अपनी वैगनार कार चलाकर अग्रसेन अस्पताल पहुँच गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जांच के दौरान, यह पता चला कि कथित तौर पर पीड़ित ने लगभग 5 साल पहले मनीष का साथ प्रापर्टी का काम शुरू किया, लेकिन पिछले साल दोनों में कुछ मतभेद हो गए थे और उनकी साझेदारी टूट गई. आरोपी मनीष ने खुलासा किया था कि पीड़ित अनावश्यक रूप से संपत्ति के कारोबार में हस्तक्षेप कर रहा था, अपने ग्राहकों का ब्रेनवॉश कर रहा था, जिससे उसे भारी  नुकसान हुआ. इस प्रकार इसलिए वो बदला लेना चाहता था, अभी आरोपी अपने घर से ही किराना दुकान चलाता है. जबकि शिकायतकर्ता गांव कराला में बदरपुर व रॉडी स्टॉक की दुकान चलाता है.