कोरोना टीकाकरण: दिल्‍ली के 75 सेंटर में COVISHIELD और 6 सेंटर में दी जाएगी COVAXIN की डोज

गुरुवार को दिल्ली में कोरोना के 340 नए केस (New corona cases In Delhi) सामने आए हैं. दिल्ली में पहली बार पॉजिटिविटी रेट 0.48% है. गुरुवार को सिर्फ 4 मौत के मामले दर्ज हुए.

कोरोना टीकाकरण: दिल्‍ली के 75 सेंटर में COVISHIELD और 6 सेंटर में दी जाएगी COVAXIN की डोज

दिल्ली में वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लिए 81 साइट चिन्हित किये गए हैं (प्रतीकात्‍मक फोटो)

खास बातें

  • दिल्‍ली सरकार के अस्‍पताल और निजी अस्‍पताल में लगेगी COVISHIELD
  • केंद्र सरकार के अस्‍पतालों में COVAXIN की डोज दी जाएगी
  • दोनों वैक्‍सीन के मिक्‍स अप से बचने के लिए हुआ यह निर्णय
नई दिल्ली:

Covid-19 Vaccination: देश में कोरोना टीकाकरण अभियान शनिवार 16 जनवरी से प्रारंभ हो रहा है. राजधानी दिल्‍ली की बात करें दिल्ली की 75 वैक्सीनेशन साइट पर सीरम इंस्टीट्यूट (SII) की वैक्सीन COVISHIELD लगाई जाएगी. ये सभी दिल्ली सरकार के अस्पताल या प्राइवेट अस्पताल हैजबकि 6 वैक्सीनेशन साइट पर भारत बायोटेक की COVAXIN लगाई जाएगी. यह सभी केंद्र सरकार के अस्पताल हैं. यानी दिल्ली सरकार के अस्पताल और प्राइवेट अस्पताल सिर्फ़ COVISHIELD लगाएंगे जबकि केंद्र सरकार के अस्पताल सिर्फ़ COVAXIN लगाएंगे. दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के मुताबिक ' ऐसा स्पष्ट वर्गीकरण इसलिए किया गया है ताकि दोनों वैक्सीन आपस मे मिक्स-अप न हो और लाभार्थी को पहली डोज़, जिस वैक्सीन की लगी है दूसरी डोज भी उसी वैक्सीन की लगे. उन्‍होंने बताया कि जिस टीकाकरण केंद्र पर COVISHIELD लगेगी, उस पर सिर्फ वही लगेगी और जिस पर COVAXIN लगेगी उस पर सिर्फ़ वही लगेगी. 

कोरोना के खिलाफ टीकाकरण की तैयारियां पूरीं, सबसे बड़े टीकाकरण अभियान से जुड़ी 10 खास बातें

वैक्सीनेशन प्रोग्राम की तैयारियों पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जैन ने बताया कि दिल्ली में वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लिए 81 साइट चिन्हित किये गए हैं जो कि ज्यादातर अस्पताल ही हैं. एक साइट पर 100 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी. हफ़्ते में 4 दिन सोमवार, मंगलवार, गुरुवार और शनिवार. किन किन अस्पतालों में लगेगी कोविशील्ड और को-वैक्सीन, इस सवाल पर उन्‍होंने कहा कि दरअसल एक सेंटर में एक तरह की वैक्सीन ही लगाई जाएगी. डिवीजन से फर्क नही पड़ता है. वैक्सीन को मिक्स-अप नही कर सकते हैं क्योंकि किसी एक लाभार्थी जो वैक्सीन लगाई जाएगी, वही वैक्सीन एक महीने बाद भी लगेगी, तो उन्हें मिक्स-अप नही किया जा सकता है. एक सेंटर को एक वैक्सीन के लिए ही चिन्हित किया है.  क्या दिल्ली के 75 अस्पतालों में कोविशील्ड और केंद्र के 6 अस्पतालों में को-वैक्सीन लगाई जाएगी, इस सवाल पर उन्‍होंने कहा कि :दरअसल, कोविशील्ड या को-वैक्सीन, एक वैक्सीन की मात्रा कम है तो दूसरी की ज्यादा है. इसलिए वैक्सीन की क्वांटिटी को ध्यान में रखकर डिवाइड किया गया है कि जितने भी सेंटर हैं, उनमें को-वैक्सीन या कोविशील्ड ही लगेगी. एक सेंटर में 2 वैक्सीन मिक्स नही हो सकती हैं. वरना ध्यान कैसे रखेंगे कि किस लाभार्थी को कौनसी वैक्सीन लगाई गई है, इसलिए जिस सेंटर में कोविशील्ड या को-वैक्सीन लगाई गयी है वहां दोबारा वही वैक्सीन लगेगी.

वैक्‍सीन मुफ्त में उपलब्‍ध कराए केंद्र, नहीं तो दिल्‍ली वालों को हम मुफ्त में मुहैया कराएंगे : CM केजरीवाल

दिल्ली में कोरोना के मामलों के बारे में उन्‍होंने बताया कि गुरुवार को दिल्ली में कोरोना के 340 नए केस (New corona cases In Delhi) सामने आए हैं. दिल्ली में पहली बार पॉजिटिविटी रेट 0.48% है. गुरुवार को सिर्फ 4 मौत के मामले दर्ज हुए जो पिछले 9 महीने का सबसे कम आंकड़ा है. लगता है कि तीसरी लहर अब काफी ठहर गयी है.फिर भी दिल्ली वाले मास्क जरूर लगाएं ताकि कोरोना को पूरी तरह ख़त्म किया जा सके.


16 जनवरी से वैक्सीनेशन, PM मोदी करेंगे शुरुआत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com