दिल्ली: कोरोना के बढ़ते केसों के चलते कुछ बड़े निजी अस्पतालों में ICU-वेंटिलेटर बेड्स की हुई कमी

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जैन ने कहा कि दिल्ली में प्राइवेट अस्पतालों में जो आईसीयू और वेंटिलेटर बेड की कमी देखने को मिल रही है वह दिल्ली में बढ़ते मामलों की वजह से भी है और अन्य राज्यों से भी आ रहे लोगों की वजह से भी है.

दिल्ली: कोरोना के बढ़ते केसों के चलते कुछ बड़े निजी अस्पतालों में ICU-वेंटिलेटर बेड्स की हुई कमी

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  • स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन बोले, उपलब्‍धता की समीक्षा करेंगे
  • जरूरत के अनुसार, बेड्स का इंतजाम किया जाएगा
  • दिल्‍ली में फरवरी की तुलना में मार्च में पांच गुना बढ़े कोरोना केस
नई दिल्ली:

Delhi Corona cases update: दिल्ली में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के चलते कुछ बड़े प्राइवेट अस्पतालों में ICU और वेंटिलेटर बेड्स की किल्लत हो गई है. इस स्थिति को देखते हुए दिल्ली सरकार ने कहा है ' दिल्ली में बेड की उपलब्धता की समीक्षा की जाएगी और बेड्स का इंतज़ाम किया जाएगा.' दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के मुताबिक ' सरकारी अस्पतालों में बहुत सारे आईसीयू और वेंटिलेटर खाली हैं. प्राइवेट में भी दो या तीन अस्पतालों में कमी हुई है, उसमें भी आज इंतज़ाम कर दिया जाएगा.' स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जैन ने कहा कि दिल्ली में प्राइवेट अस्पतालों में जो आईसीयू और वेंटिलेटर बेड की कमी देखने को मिल रही है वह दिल्ली में बढ़ते मामलों की वजह से भी है और अन्य राज्यों से भी आ रहे लोगों की वजह से भी है.

बेंगलुरू में नहीं लगेगा लॉकडाउन: कोरोना के बढ़ते केसों के बीच बोले कर्नाटक के CM बीएस येदियुरप्‍पा

गौरतलब है कि दिल्ली में मार्च महीने में कोरोना के मामले फरवरी के मुकाबले 5 गुना बढ़ चुके हैं. फरवरी में दिल्ली में कुल 4 हजार 193 संक्रमण के मामले रिपोर्ट हुए थे जबकि मार्च महीने में अब तक 20 हजार 330 संक्रमण के मामले रिपोर्ट हो चुके हैं. हालांकि यह भी बताना जरूरी है कि फरवरी महीने में रोजाना औसत टेस्ट 58 हज़ार से ऊपर थे, वहीं मार्च महीने में रोज़ाना औसत टेस्ट 72 हज़ार के करीब हुए. इतनी बड़ी संख्या में अचानक संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी होने के चलते दिल्ली के कुछ प्राइवेट अस्पतालों में आईसीयू और वेंटीलेटर की कमी होते दिखना शुरू हो गई है. दिल्ली सरकार की ऐप,  दिल्ली कोरोना App में मंगलवार सुबह 11 बजे के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में वैसे तो कोरोना मरीज़ों के लिए कुल 5797 बेड्स हैं जिसमें से अभी केवल 1604 पर मरीज़ हैं, जबकि 4193 बेड्स खाली हैं. लेकिन कुछ बड़े प्राइवेट अस्पतालों में ICU और वेंटीलेटर की किल्लत दिखनी शुरू हो गई है.

Covid-19: महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 31,643 नए मामले, 102 मरीजों की मौत

वेंटीलेटर युक्त ICU बेड्स  की स्थि‍ति

1. सर गंगा राम हॉस्पिटल- कुल बेड्स- 42, खाली- 10

2. होली फैमिली हॉस्पिटल, ओखला- कुल बेड्स-8 , खाली- 3

3. फोर्टिस हॉस्पिटल, शालीमार बाग- कुल बेड्स- 5 , खाली- 0

4. मैक्स हॉस्पिटल, शालीमार बाग- कुल बेड्स- 5 , खाली- 0

5. वेंकटेश्वर हॉस्पिटल, द्वारका- कुल बेड्स- 5 , खाली- 0


इसके अलावा केंद्र सरकार के नॉर्दन रेलवे हॉस्पिटल में 10 वेंटिलेटर आईसीयू बेड है लेकिन सभी भरे हुए हैं. हालांकि बड़ी तस्वीर ये है कि दिल्ली में सरकारी और प्राइवेट मिलाकर कुल 785 वेंटिलेटर युक्त आईसीयू बेड हैं जिसमें से 255 पर मरीज़ हैं, 530 बेड्स खाली हैं.

बिना वेंटीलेटर वाले आईसीयू बेड की स्थिति

1. इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल- कुल बेड्स- 24 , खाली- 0

2. श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टीट्यूट- कुल बेड्स- 21 , खाली- 0

3. महाराजा अग्रसेन हॉस्पिटल पंजाबी बाग- कुल बेड्स- 18 , खाली- 0

4. मैक्स हॉस्पिटल, शालीमार बाग- कुल बेड्स- 17, खाली- 0

5. जयपुर गोल्डन हॉस्पिटल, रोहिणी- कुल बेड्स- 16, खाली-0

6. वेंकटेश्वर हॉस्पिटल, द्वारका - कुल बेड्स-15 , खाली- 0

7. फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट, ओखला- कुल बेड्स-12 , खाली- 0

8. फोर्टिस हॉस्पिटल, शालीमार बाग- कुल बेड्स-12 , खाली- 0

9. सर गंगा राम हॉस्पिटल- कुल बेड्स-9 , खाली- 0


10. फोर्टिस हॉस्पिटल, वसंत कुंज- कुल बेड्स- 8, खाली- 0

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसके अलावा दिल्ली सरकार के डॉ बाबा साहब अंबेडकर हॉस्पिटल में बिना वेंटिलेटर वाले आईसीयू बेड की संख्या 9 है जबकि सभी बेड भरे हुए हैं.बिना वेंटीलेटर वाले आईसीयू बेड की बड़ी तस्वीर की अगर बात करें तो वो फिलहाल ठीक दिखाई देती हैकुल बेड्स- 1225, भरे हुए बेड्स- 372, खाली- 853.